DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दहेजहत्या में पति सहित सास-ससुर को सजा

दहेज के लिए पत्नी को जिंदा जलाने वाले पति को अदालत ने कैद की सजा सुनाई है। पिछले साल ठठिया थाना क्षेत्र में हुई इस घटना की सुनवाई करते हुए एफटीसी प्रथम की अदालत ने पति के अलावा ससुर को सात वर्ष की जबकि सास को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। साथ में सभी के खिलाफ 15-15 हजार रुपए का जुर्माना भी सुनाया गया है।

शासकीय अधिवक्ता छेदीलाल गौतम ने बताया कि मामला पिछले साल अगस्त माह का है। उनके मुताबिक ठठिया थाना के श्यामपुर निवासी जामीद पुत्र यासीन की बेटी मैनाज को उसके ससुराल वालों ने दहेज के लिए जलाकर मार डाला था। शासकीय अधिवक्ता के मुताबिक मैनाज की शादी घटना के पांच वर्ष पूर्व ठठिया थाना के ही भिखनीपुर्वा गांव निवासी अय्यूब के पुत्र छोटे से हुई थी। शिकायत थी कि मैनाज को उसके ससुराल वाले दहेज के लिए परेशान करते थे। अक्सर उसकी पिटाई करते थे। उससे दहेज में मोटर साइकिल की मांग की जाती थी। एक बार उनकी पिटाई से परेशान होकर मैनाज मायके चली गई थी। बाद में मायका पक्ष उसे ससुराल छोड़ आया था। शासकीय अधिवक्ता के मुताबिक पिछले साल 14 अगस्त 2017 को मैनाज को उसके पति छोटे, ससुर अय्यूब और सास जुबैदा ने खूब पीटा। उसके बाद मिट्टी का तेल डालकर आग लगा दिया। जिससे उसकी मौत हो गई। ठठिया थाना में इसकी रिपोर्ट दर्ज की गई थी। उसी मामले की सुनवाई करते हुए फास्ट ट्रैक कोर्ट प्रथम में न्यायधीश संजीव कुमार तिवारी ने तीनों आरोपियों को वारदात का दोषी पाते हुए सजा सुनाई। सास को आजीवन कारावास की सजा हुई है, जबकि पति को 10 वर्ष व ससुर को सात वर्ष की सजा सुनाई गई है। तीनों के खिलाफ जुर्माना भी लगाया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Dasajahati with husband and father-in-law punished