DA Image
30 अक्तूबर, 2020|12:33|IST

अगली स्टोरी

इलाज के दौरान कंटेनर ड्राइवर की हुई मौत

default image

शहर के सौरिख रोड पर सिद्धपीठ मां कालिकादेवी मंदिर के सामने 17 दिन पहले बिजली के झूलते तार की चपेट में आकर कंटेनर में करंट उतर आया था। जिससे कंटेनर ड्राइवर बुरी तरह झुलस गया था। इलाज के दौरान लखनऊ में उसकी मौत हो गई। देर रात उसका शव गांव पहुंचा।

क्षेत्र के रनधीरपुर गांव निवासी कोतवाली के चौकीदार बलवीर सिंह यादव का बेटा मुकेश उर्फ मुकलू कंटेनर चलाता है। 27 जून को वह दिल्ली से बिजली उपकरण लादकर लखनऊ जा रहा था। जब वह सौरिख रोड पर कालिकादेवी मंदिर के पास पहुंचा, तभी ऊपर से निकले एचटी लाइन के झूलते तारों की चपेट में आ गया। जिससे कंटेनर में करंट उतर आया था। इस हादसे में ड्राइवर मुकेश उर्फ मुकलू गंभीर रूप से झुलस गया था। उसे इलाज के लिए पहले सौ शैय्या अस्पताल ले जाया गया था। बाद में उसे लखनऊ रेफर कर दिया गया था। वहां उसका इलाज चल रहा था। 17 दिन बाद सोमवार को अचानक उसकी मौत हो गई। कंटेनर ड्राइवर की मौत से परिजनों में हड़कंप मच गया। देर रात उसका शव गांव पहुंचा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Container driver died during treatment