DA Image
16 जनवरी, 2021|5:48|IST

अगली स्टोरी

आवारा पशुओं से ग्रामीण हुए आक्रोशित

default image

गांव बड़े बेलमा में आवारा पशु मुसीबत बन गए हैं। जिसको लेकर सोमवार ग्रामीण आक्रोशित हो गए। वहीं गांवों से काफी संख्या में पशुओं को लेकर तहसील प्रांगण पहुंचे और गेट बंद कर दिए। जिससे वहां अफरा-तफरी मच गई। बाद में कर्मचारियों द्वारा पशुओं से भगाया गया।

गांव बड़े बेलमा में ग्रामीण आवारा पशुओं से परेशान हैं। सोमवार को सुरजीत राजपूत के नेतृत्व में बड़ी संख्या में किसान आसपास से पशुओं को लेकर सीधे तहसील प्रांगण जा पहुंचे। इससे पहले कि कोई कुछ समझ पाता, ग्रामीणों ने तहसील परिसर में पशुओं को बंद कर दिया। बड़ी संख्या में तहसील में पशुओं को देख वहां खलबली मच गई। ग्रामीणों का कहना था कि आवारा पशु खेतों को नष्ट कर रहे हैं। कई बार गौशालाओं में पशुओं को भेजे जाने की मांग की। लेकिन, कुछ नहीं हुआ। उन्होंने कहा, क्षेत्र में गौशालाओं में पशुओं को नहीं रखा जा रहा है। वहीं उचित इंतजाम नहीं हैं। बाद में तहसील में मौजूद कर्मचारियों ने पशुओं को भगाया। मामले में उपजिलाधिकारी मंजूर अहमद ने बताया उनके पास में पशुओं तहसील में पशुओं को बंद किए जाने की जानकारी नहीं है। मामलें में बीडीओ को जमीन चिन्हित कर गौशाला बनाए जाने के निर्देश दे दिए गए थे। किन्ही वजहों से गौशाला भी नहीं बन पाई है। इसके लिए जल्द बातचीत की जाएगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Villagers outraged by stray animals