ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश झांसीमहापरिनिर्वांण दिवस पर सादगी से याद किए संविधान के शिल्पी

महापरिनिर्वांण दिवस पर सादगी से याद किए संविधान के शिल्पी

महापरिनिर्वांण दिवस पर सादगी से याद किए संविधान के शिल्पीसियासी-गैर सियासी दलों ने डा. आंबेडकर की प्रतिमा पर चढ़ाए फूलसिद्धांतों पर चलने का लिया...

महापरिनिर्वांण दिवस पर सादगी से याद किए संविधान के शिल्पी
हिन्दुस्तान टीम,झांसीWed, 06 Dec 2023 11:15 PM
ऐप पर पढ़ें

झांसी, संवाददाता

बुधवार को संविधान के शिल्पी बाबा साहब डा. भीमराव आंबेडकर का परिनिर्वांण दिवस मनाया गया। सियासी, गैर-सियासी दलों, सामाजिक संगठनों, शिक्षण संस्थानों में उनकी प्रतिमा पर फूल-माला चढ़ाकर श्रद्धा-सुमन अर्पित किए गए। वक्ताओं ने उनकी शान में कसीद पढ़े। उन्हें शोषित समाज का सच्चा मसीहा बताया। उनके सिद्धांतों पर चलने का संकल्प लिया गया। वहीं गांवों से लेकर शहर तक जगह-जगह गोष्ठियां सहित अन्य कार्यक्रम में उन्हें सच्चे दिल से याद किया गया।

शहर कांग्रेस कमेटी के बैनर के तत्वावधान में बाबा साहेब को महापरिनिर्वाण दिवस पर याद किया गया। तालपुरा स्थित डा. आंबेडकर उधान में पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य के मुख्य आतिथ्य व शहर अध्यक्ष मनोज गुप्ता की अध्यक्षता में कार्यक्रम हुआ। वरिष्ठ समाज सेवी कुंवर बहादुर आदिम का सम्मान किया गया। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वर्तमान में डा. आंबेडकर की विचारधारा, संविधान और उनकी प्रतिमाओं के विरुद्ध कुछ समाज विरोधी शक्तियां कुचक्र चला रही हैं। जिनका मुकाबला पूरी ताकत के साथ करने की जरुरत है। इस दौरान शफीक अहमद मुन्ना, राजकुमार सेन, वीरेंद्र सिंह कुशवाहा, अमीर चंद आर्य,अशोक कन्सौरिया सहित अन्य मौजूद रहे। वहीं भाजपा ने महानगर जिलाध्यक्ष हेमंत परिहार के नेतृत्व में कचहरी चौराहे स्थित उनकी प्रतिमा पर फूल चढ़ाए। उनके बारे में बताया। वक्ताओं ने उन्हें दलित, शोषित समाज का महीजा कहा। बोले, वंचित समाज के लिए उन्होंने जीवन भर संघर्ष किया। इस अवसर पर संतराम पेंटर सहित अन्य मौजूद रहे। वहीं जन अधिकार पार्टी कार्यालय झांसी में भी बाबा साहब को याद किया गया। वक्ताओं ने बताया कि आंबेडकर जी भारतीय संविधान के शिल्पकार होने के साथ-साथ सामाजिक समरसता के अमर पुरोधा थे। इस दौरान बिहारी लाल, आरडी फौजी, डॉ. भागवत नारायण काछी, पीडी कुशवाहा, शैलेंद्र सिंह मौर्य, प्रेमवती कुशवाहा, डॉ. बालचंद कुशवाहा, चिरंजीलाल, आरके फौजी सहित अन्य मौजूद रहे। इसके अलावा अन्य सियासी दलों, शिक्षण संस्थानों, समाज सेवी संगठनों सहित अन्य ने कचहरी चौराहा स्थित बाबा साहब की प्रतिमा पर फूल चढ़ाए। उनके बारे में विस्तार से बताया। उनके बताए मार्ग पर चलने का संकल्प लिया गया।

शोषित समाज के मसीहा थे डा. आंबेडकर

मऊरानीपुर। शहर में जगह-जगह कार्यक्रम हुए। सपा, बसपा, कांग्रेस, भाजपा कार्यकर्ताओं ने परिनिर्वांण दिवस पर डा. भीमराव आंबेडकर के चित्र पर माल्यार्पण किया। उनके बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने बाबा साहेब दलितों, पिछड़ों को उनका हक दिलाने वाला मसीहा बताया। इस दौरान काफी संख्या में लोग मौजूद रहे।

कुरीतियों के खिलाफ करेंगे संघर्ष

बरुआसागर। कस्बा में बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर का परिनिर्वांण दिवस मनाया गया। उनकी प्रतिमा पर लोगों ने फूल चढ़ाए। जगह-जगह गोष्ठियां हुई। वक्ताओं ने उन्हें दलित, शोषित समाज का सच्चा मसीहा कहा। वहीं संविधान की रक्षा और समाज के फैली बुरीतियां, कुरीतियों को मिटाने का संकल्प लिया गया। इस दौरान काफी संख्या में लोग मौजूद रहे।

बाबा साहब का हुआ गुणगान

समथर। कस्बा सहित आसपास के ग्रामीण अंचलों में बुधवार डा. भीमराव आंबेडकर का परिर्निांण दिवस मनाया गया। भाजपा मंडल, बूथ के कार्यकर्ताओं ने पीपरी बस स्टैण्ड पर स्थित उनकी प्रतिमा पर फूल-मालाएं चढ़ाए। उनके बारे में विस्तार से बताया। इस दौरान अवधेश अग्रवाल, नगर पालिकाध्यक्ष देवेन्द्र सिंह कंसाना, उमेश चन्द्र गुबरेले , पार्षद अरविन्द श्रीवास, सौरव व्यास, विक्रम सिंह, रणवीर सिंह सहित अन्य मौजूद रहे। वहीं गांव दतावली, वरनाया, काडोर, चिरगांव खुर्द, बागरी, पहाड़पुरा, बडोखरी, बहादुरपुर, साकिन, लोहागढ़ सहित अन्य गांवों में भी परि-निर्वांण दिवस पर बाबा साहब को याद किया गया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें