DA Image
5 जुलाई, 2020|9:23|IST

अगली स्टोरी

बेइज्जती का बदला लेने के विकास ने कराई रौनू तिवारी की हत्या

बेइज्जती का बदला लेने के विकास ने कराई रौनू तिवारी की हत्या

मऊरानीपुर के बिजरवारा गांव में 27 मई की रात हुई युवक की हत्या मामले का सोमवार पुलिस ने खुलासा कर हत्या के मास्टरमाइंड समेत चार बदमाशों को पकड़ लिया है। पुलिस ने बताया कि बेइज्जती का बदला लेने के लिये के लिये गांव के ही विकास तिवारी ने षड़यंत्र रचकर साथियों के साथ मिलकर लोहे के हथियार से हत्या की थी।

पुलिस लाइन में पुलिस अधीक्षक ग्रामीण राहुल मिठास ने बताय कि मऊरानीपुर के गांव बिजरवारा निवासी रौनू तिवारी उर्फ चन्द्रभूषण रंगबाजी कर गांववासियों को अकारण परेशान कर बेइज्जत करता था। जिससे उसके साथियों के अलावा ग्रामीणों में भी रौनू तिवारी को लेकर रौष था। कुछ दिन रौनू ने गांव के विकास को सावर्जनिक रूप से बेइज्जत कर मारपीट की थी। जिससे वह रंजिश मानने लगा। वहीं विकास को इस बात की जानकारी हुई कि रौनू हेमंत सिंह परिहार की बहन के साथ छेड़खानी कर परेशान करता है। उसने हेमंत को पहले से ही 22 हजार रुपये का कर्ज ले रखा था। इसको लेकर विकास ने रौनू की हत्या का षड़यंत्र रचते हुये हेमंत का सहारा लिया। हेमंत की रौनू ने अच्छी दोस्ती थी, इस कारण हेमंत के फोन करने पर रौनू तिवारी कहीं भी साथ चला जाता था। इसका लाभ उठाकर विकास ने हेमंत के फोन पर रौनू को बाइक से बरगद के पेड़ के पास बुलाया और उसी की बाइक से मोटेहार पहुंचे। जहां पहले से ही हेमंत के साथी पंकज बरार व महेन्द्र बरार मौजूद थे। बाइक रुकते ही महेन्द्र व हेमंत ने रौनू को पकड़ लिया और पंकज ने लोहे के हथियार(वका) से रौनू क गर्दन पर बारी-बारी से बार कर हत्या कर दी। तीनों ने रौनू की जेब से पर्स, एक अंगूठी, एक चांदी की अंगूठी व हत्या में प्रयुक्त लोहे का बांका बरामद कर लिया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Revenge of dishonesty led to the murder of Raunu Tiwari