DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  झांसी  ›  झांसी में जीटी एक्सप्रेस से गिरी मासूम की मौत में क्राइम सीन का रिक्रेयेशन
झांसी

झांसी में जीटी एक्सप्रेस से गिरी मासूम की मौत में क्राइम सीन का रिक्रेयेशन

हिन्दुस्तान टीम,झांसीPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 06:11 AM
झांसी में जीटी एक्सप्रेस से गिरी मासूम की मौत में क्राइम सीन का रिक्रेयेशन

झांसी। संवाददाता

जीटी एक्सप्रेस में 29 मई की रात कोच से गुम हुई 10 साल की मासूम का शव अगले दिन ललितपुर सेक्शन के बिजरौठा के समीप रेल लाइन पर पड़ा मिला था। पिता शिव सिंह द्वारा पूरी घटना में संदेह जताने के बाद बुधवार जीआरपी ललितपुर ने आगरा विधि विज्ञान प्रयोगशाला की टीम के क्राइम सीन को दोहराया। इसके लिये ललितपुर से टीम गाड़ी में सवार हुई और बच्ची के हुलिया व बजन व लम्बाई के आधार पर बनाये गये पुतले को गिराया गया। विधि विज्ञान प्रयोगशाला की टीम ने साक्ष्य जुटाते हुये अपनी रिपोर्ट जारी करेगी।

चैन्नई से चलकर नई दिल्ली की जा रही जीटी एक्सप्रेस के आरक्षित कोच नम्बर एस-9 की सीट नम्बर 49 पर मथुरा निवासी शिव सिंह 9/10 साल की मासूम गरिमा के साथ 28 मई की रात नैल्लोर स्टेशन से मथुरा जाने के लिये टे्रन में सवार हुये थे। ट्रेन में खाना-पीना खाकर सभी सो रहे थे। शनिवार रात गाड़ी जब ललितपुर से निकली, तभी शिव सिंह की आंख खुली तो देखा सीट पर गरिमा नहीं थी, उन्होंने बच्ची की तलाश में पूरा कोच खंगाल डाला, पर बच्ची का कहीं कोई सुराग न मिला। बबीना स्टेशन पर चेन पुलिंग कर गाड़ी रोकने के बाद भी बच्ची का पता न चलने पर झांसी में बच्ची को तलाश किया गया। न मिलने पर पिता शिव सिंह ने ग्वालियर जीआरपी में मामला दर्ज कराया। इधर अगले दिन मासूम का शव ललितपुर सेक्शन के बिजरौठा स्टेशन के पास रेल लाइन किनारे मिलने के बाद शिव सिंह ने मासूम के साथ अनहोनी की आशंका जताई। ललितपुर डीएम ने डॉक्टरों के पैनल बनाकर मासूम का पोस्टमार्टम कराया। लेकिन पोस्टमार्टम में मासूम की मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो सका। इधर शिव सिंह की मांग पर प्रभारी एसपी रेलवे अर्पणा ने ललितपुर जीआरपी का निरीक्षण कर पूरे मामले की छानबीन की। वहीं बुधवार को आगरा से विधि विज्ञान प्रयोगशाला की टीम ललितपुर पहुंची व मासूम के हुलिया, बजन व लम्बाई के आधार पर एक पुतला बनाकर पूरे क्राइम सीन का रिक्रेयेशन कराया। ललितपुर में पंजाब मेल के आने पर टीम कोच में सवार हुई और जैसे-जैसे वाक्या हुआ, उसी आधार पर पुतले को बिजरौठा स्टेशन के आगे घटना स्थल पर गिराया गया। गाड़ी रोकने के बाद टीम ने वहां मौके पर पूरा सीन देखा व तथ्य जुटाये। क्षेत्राधिकारी रेलवे कानपुर/झांसी कमरुल हसन ने कहते हैं कि पिता शिव सिंह बेटी की मौत का कारण पर संदेह जता रहे थे। इस कारण पूरे क्राइम सीन का रिक्रेयेशन कराया गया है। उन्होंने बताया कि आगरा की विधि विज्ञान प्रयोगशाला की टीम ने पूरा क्राइम सीन को देखकर जो तथ्य जुटाये है, उसके आधार पर अपनी रिपोर्ट देंगे।

संबंधित खबरें