DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोच लगा नहीं और आरक्षण टिकट जारी कर दिए

कोच लगा नहीं और आरक्षण टिकट जारी कर दिए

झांसी-लखनऊ इंटरसिटी एक्सप्रेस के डी-3 कोच के आरक्षण टिकट जारी होने के बाद शुक्रवार रेलवे ने कोच काट दिया।

यात्री प्लेटफार्म पर टिकट लेकर कोच तलाशते रहे, बावजूद रेलवे ने इस सम्बंध में यात्रियों को जानकारी तक उपलब्ध कराना मुनासिब नहीं समझा। यात्रियों के हंगामे के बाद हरकत में आये अफसरों ने तत्काल ट्रेन में जनरल कोच की व्यवस्था कराई, इसके बाद करीब डेढ़ घण्टे की देरी से इंटरसिटी एक्सप्रेस झांसी से रवाना हो सकी।

दीपावली पर्व पर कन्फर्म आरक्षण टिकटों की मारामारी देख यात्रियों ने झांसी-लखनऊ इंटरसिटी एक्सप्रेस को लेकर पहले से ही आरक्षण टिकट जारी करा लिये थे। शुक्रवार सुबह निर्धारित समय पर यात्री प्लेटफार्म पर पहुंचे तो देखा प्लेटफार्म नम्बर पर इंटरसिटी एक्सप्रेस खड़ी है। डी-3 कोच का आरक्षण टिकट लेकर यात्री जब ट्रेन में पहुंचे तो देखा डी-3 कोच पूरी ट्रेन में नहीं लगा था। परेशान यात्री प्लेटफार्म पर टिकट लेकर घूमते रहे, लेकिन न तो उन्हे कोई जानकारी देने वाला दिखाई दिया और न हीं टीटीई स्टॉफ मौजूद था।

काफी देर बाद भी कोच सम्बंधी जानकारी उपलब्ध न होने से बौखलाएं यात्रियों ने हंगामा कर डिप्टी एसएस कार्यालय घेर लिया। जानकारी करने पर पता चला कि डी-3 कोच सिक कर दिया गया है। यह सुनकर यात्रियों आपा खो बैठे, यात्रियों का आक्रोश देख रेल प्रशासन ने आरक्षित डी-3 कोच की जगह पर जनरल कोच लगाकर यात्रियों को बैठाया। यात्रियों के शांत कराने के बाद गाड़ी को डेढ घण्टे की देरी से 7.45 बजे झांसी से रवाना कराया। यात्रियों का आरोप था कि त्योहार के मौके पर कोच काटने की सूचने की पहले से कोई जानकारी यात्रियों को उपलब्ध नहीं कराई गई। इसके अलावा कोच काटने के बाद अन्य किसी कोच की व्यवस्था सम्बंधी जानकारी भी नहीं दी गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:No coach and issued reservation tickets