DA Image
5 जुलाई, 2020|8:30|IST

अगली स्टोरी

छह सालों में सबसे कम रहा पहली जून का पारा

छह सालों में सबसे कम रहा पहली जून का पारा

..पल में बादल,..पल में धूप ..बदन से निचुड़ता पसीना, ..तीखी उमस और हर तरफ ..हाय गरमी उफ गरमी। नौतपा के आठवें दिन मौसम का सूरत-ए-हाल कुछ ऐसा ही रहा। तीखी गर्मी और उमस के साथ जून का महीना शुरू हुआ। बीते छह सालों पर गौर करें तो सोमवार सबसे कम तपा। अधिकतम पारा 39 डिग्री तक पहुंचा। पर, चढ़ते-उतरते मौसम ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दीं। मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो आने वाले दिनों में मौसम कुछ ऐसा ही रहेगा। गर्मी महसूस होगी।

मंगलवार को नौतपा का आखिरी दिन होगा। अधिकतम पारे में उछाल की संभावना है। सोमवार सुबह 5 बजकर 25 मिनट पर सूर्योदय हुआ। घण्टे-दर-घण्टे धूप में तेजी आई। सुबह 10 बजते ही धूप और बादलों के मेल ने लोगों को पसीना-पसीना कर दिया। 11 बजे के करीब फिर तीखी धूप खिली। जरूरी काम से निकले शहरी हाथ बंद दस्ताने, टोपी, गमछा, छाते की ओट में नजर आए। दोपहर 12 बजते ही पारे में 38 डिग्री का पैमाना छू लिया। धूप बदल झुलसाती दिखी। दो बजे अधिकतम पारे में एक डिग्री और उछाल दर्ज की। पौने तीन बजे बादल और धूप का मेल देखने को मिला। जिससे शहरी परेशान हो उठे। बाजार सुस्ताते नजर आए। सड़कों पर सन्नाटा सा रहा। भरारी फार्म स्थित कृषि मौसम इकाई के वैज्ञानिक डा. मुकेश चंद्र के अनुसार आने वाले दिनों में हवाएं 10 से 12 किमी रफ्तार से चलने की संभावना है। इन दिनों में अधिकतम पारा 39 से 40 डिग्री के बीच रहने की संभावना है। कहीं-कहीं मध्यम बादल छाए रहेंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:First June 39 s mercury was lowest in six years