ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश झांसीमोंठ में तांत्रिक की हत्या में चर्चित डकैत धन सिंह साथी सहित गिरफ्तार

मोंठ में तांत्रिक की हत्या में चर्चित डकैत धन सिंह साथी सहित गिरफ्तार

मोंठ में तांत्रिक की हत्या में चर्चित डकैत धन सिंह साथी सहित गिरफ्ताररिश्तेदार ने पत्नी को बच्चे न होने पर झाड़फूंक कर रहे तांत्रिक पर जताया था...

मोंठ में तांत्रिक की हत्या में चर्चित डकैत धन सिंह साथी सहित गिरफ्तार
हिन्दुस्तान टीम,झांसीWed, 06 Dec 2023 11:15 PM
ऐप पर पढ़ें

झांसी,संवाददाता

मोंठ थाना क्षेत्र में करीब डेढ माह पहले 55वर्षीय तांत्रिक परशुराम के अंधेकत्ल से पुलिस ने बुधवार पर्दा उठाते हुए चर्चित डकैत धन सिंह सहित दो हत्यारोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस की माने तो परशुराम की हत्या में पांच लोग शामिल थे। इसमें दो फिरौती के लिए अपहरण मामले में पृथ्वीपुर पुलिस ने जेल दिया है। जबकि फरार पांचवे हत्यारोपित को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस टीमें प्रयास कर रही है। एसपी देहात गोपीनाथ सोनी ने बताया कि हत्यारोपित धमेन्द्र की पत्नी को बच्चे नहीं हो रहे थे, इस कारण वह पत्नी की परशुराम से झाड़फूंक करा रहा था। धर्मेन्द्र को संदेह था कि तांत्रित उल्टा मंत्र मारकर उसकी पत्नी की हालत बिगाड़ देता है, जिससे उसकी पत्नी को चार बार गर्भपात हो गया। वहीं बहन की हालत भी खराब कर दी। तांत्रिक को सबक सिखाने के लिए उसने अपने रिश्तेदारों को बुलाकर गमछा से बांधकर ईंट से हमला कर मौत के घाट उतार दिया। बाद में कमर पर कपड़े में मिट्टी बांधकर शव को नदी में फेंक दिया था। पुलिस ने हत्यारोपितों पर 25-25 हजार का ईनाम घोषित कर रखा था।

पुलिस लाइन में अंधे कत्ल का खुसाला करते हुए एसपी देहात गोपीनाथ सोनी ने बताया कि मोंठ थाना क्षेत्र में चिरेला गांव में रहने वाले 55वर्षीय परशुराम खेती-किसानी के साथ महिलाओं को बच्चे पैदा करने के लिए तांत्रिक क्रिया करता था। 2 नवम्बर को महेन्द्र ने पिता परशुराम उर्फ कड़ोरे पुत्र हरपे की गुमशुदी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कर परशुराम की खोजबीन कर उसका शव 3 नवम्बर को बेतवा नदी से बरामद किया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या की पुष्टि के बाद पुलिस ने छानबीन कर पाया कि गांव के धर्मेन्द्र पुत्र मानसिंह ढीमर पत्नी को बच्चे न होने पर तांत्रिक परशुराम से झाड़ फूंक कराता था। तांत्रिक की हत्या के बाद धर्मेन्द्र अपने साथी अरविन्द के साथ गांव छोड़कर ससुराल बरुआसागर भाग गया। पुलिस ने पूरे मामले में गहराई से जांच करने पर हत्या में जाहर सिंह पुत्र लल्लूराम निवासी गांव सिंहपुरा थाना भाण्डेर दतिया व चर्चित डकैत धन सिंह पुत्र श्याम सिंह ढीमर निवासी छेवटा थाना समथर का नाम सामने आने के बाद उन्हे 5 दिसम्बर को बम्हरौली तिराहे के पास से अवैध शस्त्र व कारतूस सहित दबोच लिया। पूछताछ में दोनों ने बताया कि धर्मेन्द्र उनका रिश्तेदार है। धर्मेन्द्र ने बताया था कि परशुराम जब तक झाड़फूंक करता है पत्नी ठीक रहती है, इसके बाद उसकी हालत बिगड़ जाती है। इससे पत्नी का चार बार गर्भपात करा चुका है। बहन की हालत भी खराब रहती है। धर्मेन्द्र को शक था कि तांत्रित उल्टा मंत्र करता है। इस कारण वह उसे सबक सिखाना चाहता था। धर्मेन्द्र के कहने पर जाहर सिंह, अरविन्द व धन सिंह के अलावा एक अन्य साथी 31 अक्टूबर को गांव पहुंचे व खेत पर पानी लगा रहे परशुराम को बातों में उलझाकर गमछे से उसे बांधकर सिर पर ईंट मारकर हत्या कर दी। कमर में उसी कपड़े में मिट्टी बांधकर नदी में फेंक दिया। पुलिस ने दोनों को जेल भेज दिया है।

चर्चित डकैत धन सिंह पर है 42 संगीन मामले दर्ज

एसपी देहात गोपीनाथ कहते हैं कि चर्चित धन सिंह पर हत्या, लूट, डकैती सहित 42 संगीन मामले दर्ज है। हालांकि साल 2001 के बाद से धन सिंह आपराधिक गतिविधियों से दूर था, लेकिन एक बार फिर हत्या के बाद धन सिंह पुलिस की गिरफ्त में आ गया। उन्होंने बताया कि धन सिंह पर उत्तर प्रदेश के झांसी, जालौन व मध्य प्रदेश में कई अपराध दर्ज है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें