DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसडीएम के सामने पानी पर मचा ‘हल्ला

एसडीएम के सामने पानी पर मचा ‘हल्ला

कस्बा में लोग बूंद-बूंद तरस रहे हैं। बुधवार को धरातल पर पानी की हकीकत जानने उपजिलाधिकारी वान्या सिंह रानीपुर पहुंची। उन्होंने नगर पंचायत कार्यालय में जरूरी बैठक ली। जहां पार्षदों ने पानी को लेकर खूब हल्ला किया। आरोप लगाए कि खास लोगों के इशारों पर टैंकर चल रहे हैं। जिससे लोग प्यासे हैं।

पार्षदों ने कहा, उनसे पूछा-बताया, नहीं जा रहा है। पेयजल किल्लत से हालात इतने नाजुक हैं कि पार्षदों को मोहल्ले से निकलना मुश्किल हो गया है। एसडीएम के सामने पार्षदों ने एक स्वर में कहा, टैंकरों में पूरी मनमानी हो रही है। खास लोगों के यहां जलापूर्ति की जाती है। कहां जलापूर्ति होनी है? पार्षदों से नहीं पूछा जाता। बोले, साइफन के आगे दो महीने पहले बोरिंग की गई थी। लेकिन, अब तक जलापूर्ति नहीं हो सकी। उपजिलाधिकारी वान्या सिंह ने जल संस्थान कर्मचारियों से बातचीत की। जिस पर कर्मचारियों ने बताया, बोरिंग पर बिजली कनेक्शन होना है, जो जल निगम द्वारा कराया जाएगा। इस पर एसडीएम ने जल निगम के अफसरों से फोन पर बात की। इस दौरान अधिशासी अधिकारी सपना भारद्वाज, देवेन्द्र खरे, चंद्रप्रकाश इटैलया, हरीदास पारया, दीपक खरे, राजेश आर्य, कमलदीप राय, संजू गुप्ता, सुरेश कुमार, राजाराम कुशवाहा, मुमताज खां मंसूरी, संजीत बाल्मीक, राकेश खटीक सहित अन्य मौजूद रहे।

बोलीं एसडीएम

इस संबंध में उपजिलाधिकारी वान्या सिंह ने जल निगम अफसरों को तुरंत बोरिंग पर कनेक्शन कराकर पेयजल आपूर्ति चालू किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा, हर वार्ड में कम से कम तीन टैंकर भेजे जाएं। पार्षदों से प्वाइंट पूछा जाए। टैंकरों की वाउर् के पार्षद को जानकारी दी जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Attack on water in front of SDM 'attack'