DA Image
10 अप्रैल, 2020|1:34|IST

अगली स्टोरी

मूर्ति विसर्जन करने गए श्रद्धालुओं की कोतवाल ने की पिटाई

भगवान गणेश की मूर्ति विसर्जन के समय कोतवाल शशिभूषण राय पर आरोप लगाया गया कि मंगलवार की रात श्रद्धालुओं के साथ दुर्व्यवहार किया। पीड़ितों ने जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, क्षेत्रीय विधायक से लेकर मुख्यमंत्री तक से शिकायत की है। आरोप लगाया कि  कस्बे के गणपति महोत्सव समिति के पदाधिकारी एवं सभासद मनोज कुमार जायसवाल, रंजीत कुमार, अमितेश कुमार गुप्ता,प्रदीप, बचाऊ, धीरज , शिवम, राज अपनी समिति के अन्य पदाधिकारियों के साथ मंगलवार की रात गोमती नदी के किनारे बने एक गड्ढे में गणेशजी की मूर्ति का विसर्जन करने गए थे।

उन्होंने वहां गड्ढे में पानी बिल्कुल कम होने का कोतवाल को उलाहना दिया तो कोतवाल उखड़ गए और डंडे को पेट में धंसाते हुए ढकेल दिया। गालियां दी और पीटकर भगा दिया। बाद में कुछ सिपाहियों की मदद से स्वयं मूर्ति को घसीटते हुए गड्ढे में फेंक दिया। समिति के पदाधिकारियों का आरोप है कि कोतवाल ने न केवल उनके साथ दुर्व्यवहार किया बल्कि मूर्ति का भी अपमान किया। इस बारे में कोतवाल शशिभूषण राय ने ऐसी किसी बात से इनकार किया। कहा कि वे सब नदी में मूर्ति विसर्जित करना चाहते थे। उन्हें मना किया गया। अन्य समिति वालों को भड़काने लगे। जिसके चलते उन्हें भगा दिया गया। मूर्ति के अपमान और मारपीट की बात गलत है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Police beating of devotees to immolate idol