DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीएम के निरीक्षण में खुली कार्यालयों की पोल

जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र ने गुरुवार को कई सरकारी कार्यालयों का निरीक्षण किया। इस दौरान कई अधिकारी व कर्मचारी गायब रहे। इस पर उन्होंने नाराजगी जतायी। कुछ कर्मचारियों का वेतन रोकने व कुछ से स्पष्टीकरण मांगा गया है। उनके साथ एसपी शैलेश कुमार पांडेय भी थे। हिसं रामनगर के अनुसार, डीएम व एसपी ने नेवढ़िया थाना का निरीक्षण किया। एसओ एके सिंह से सभी प्रकार के मामलों को निस्तारित करने को कहा। अतिरिक्त प्रा.स्वास्थ्य केन्द्र नेवढ़िया पर डीएम के पहुंचते ही हड़कम्प मच गया। बिस्तरों पर चादर गंदा मिला तथा परिसर में गंदगी थी। अनुपस्थित डा.लालचन्द्र प्रसाद, संविदाकर्मी राजीव तिवारी, हीरावती सिंह के अनुपस्थित रहने पर वेतन रोकने का आदेश दिया। जिलाधिकारी ने बासापुर साधन सहकारी समिति का निरीक्षण किया। सचिव उग्रसेन दुबे ने बताया कि 42 सौ कुंतल लक्ष्य के सापेक्ष 36 सौ कुंतल गेहूं क्रय किया गया है। 150 कुंतल गेहूं बाहर पाया गया इस पर डीएम ने कहा कि गेहूं भीगने पर वेतन से कटौती की जायेगी। इसके बाद डीएम रामनगर ब्लाक पहुंचे। वहां वीडीओ देवेन्द्र सिंह, एडीओ पंचायत, बीओ पीआरडी, एडीओएजी भुआल प्रसाद प्रजापति, उर्दू अनुवादक शाह मोहम्मद, वाहन चालक अशोक कुमार अनुपस्थित थे। डीएम ने सभी से स्पष्टीकरण मांगा है। हिसं मड़ियाहूं के अनुसार, डीएम ने सब रजिस्टार कार्यालय का आकस्मिक निरीक्षण किया। आठ बैनामे की जांच नायब तहसीलदार अजय से कराई जिसमें मिलान करने पर 1360 रुपये कम कैश पाया गया। डीएम ने एडीएम अयोध्या प्रसाद को प्रकरण की जांचकर आख्या प्रस्तुत करने का निर्देश दिया। डीएम ने एसडीएम न्यायालय का निरीक्षण किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Open office pole in DM inspection