DA Image
26 अक्तूबर, 2020|1:21|IST

अगली स्टोरी

गैर इरादतन हत्यारोपितों को सात साल की कैद

गैर इरादतन हत्यारोपितों को सात साल की कैद

महराजगंज थाना क्षेत्र के बनकट लोदी गांव में नाबदान के विवाद को लेकर शेर बहादुर सिंह की गैर इरादतन हत्या करने के दो आरोपितों को अपर सत्र न्यायाधीश तृतीय महेंद्र सिंह की कोर्ट ने सात साल की कारावास की सजा सुनाई। दस हजार रुपए जुर्माना लगाया।गांव निवासी राजदेव सिंह ने मुकदमा दर्ज कराया था कि 20 जून 2005 को गांव के ही हलधर सिंह,मानवेंद्र प्रताप सिंह व श्री राम वादी के नाबदान को बंद कर रहे थे। मना करने पर वादी व उसके परिवार को लाठी डंडे से मारा पीटा गया।शेर बहादुर को गंभीर चोटें आईं।दौरान इलाज उसी दिन मृत्यु हो गई। पुलिस ने आरोप पत्र कोर्ट में दाखिल किया। पीड़ित पक्ष की ओर से पैरवी शाषकीय अधिवक्ता लाल बहादुर पाल ने किया। दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद कोर्ट ने आरोपित हलधर व मानवेंद्र को दोषी पाते हुए सजा सुनायी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Non-willful killers imprisoned for seven years