Jaunpur Bloody struggle in the dispute over the removal of tractors in the field - जौनपुर: खेत में ट्रैक्टर उतारने के विवाद में खूनी संघर्ष DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जौनपुर: खेत में ट्रैक्टर उतारने के विवाद में खूनी संघर्ष

स्थानीय कोतवाली क्षेत्र के बसढुआ गांव में खेत में ट्रैक्टर घुसने पर दो पक्षों में शुक्रवार को विवाद हो गया। विवाद के दौरान हुए खूनी संघर्ष में एक की मौत हो गई। जबकि दस लोग घायल हो गए। घायलों में तीन की हालत गम्भीर होने पर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना की गम्भीरता को देखते हुए सरायपोख्ता चौकी की पुलिस को भी लगाया गया था। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

उक्त गांव निवासी मेहीलाल गौतम शुक्रवार सुबह खेत की जुताई कराने के लिए ट्रैक्टर बुलवाये थे। गांव के ही महेंद्र गौतम ने चकरोड से खेत में ट्रैक्टर उतारने से मना किया। लेकिन मेहीलाल जबरन खेत में ट्रैक्टर उतारने लगा जिससे विवाद बढ़ गया। आरोप है कि मेहीलाल की तरफ से जुटे लोग विपक्षी पर टंगारी, फावड़ा, कुदाल व लाठी से हमला कर दिया। हमले में 45 वर्षीय महेंद्र पुत्र जंगाली व छोटे भाई 40 वर्षीय राजेन्द्र, 35 वर्षीय सुरेंद्र, 30 वर्षीय वीरेंद्र, 16 वर्षीय पवन पुत्र राजेन्द्र, 17 वर्षीय सोनी पुत्री राजेन्द्र, 22 वर्षीय शनी पुत्र महेंद्र घायल हो गए। जबकि दूसरे पक्ष से 55 वर्षीय मेहीलाल पुत्र रामदेव, 35 वर्षीय अजय पुत्र मेहीलाल, 50 वर्षीय चंदा देवी पत्नी मेहीलाल घायल हो गईं। इस दौरान मारपीट की सूचना किसी ने कोतवाली पुलिस को दे दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने एम्बुलेंस से सभी घायलों की सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचाया। जहां महेंद्र, राजेन्द्र, वीरेंद्र, सुरेंद्र की हालत नाजुक देख चिकत्सिकों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जिला अस्पताल में महेंद्र की इलाज के दौरान मौत हो गई। मौके पर जिला अस्पताल में सरायपोख्ता चौकी प्रभारी देवेन्द्र कुमार दुबे व शमशेर सिंह पहुंचे थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Jaunpur Bloody struggle in the dispute over the removal of tractors in the field