Irfana murder case still not revealed after three months - इरफाना हत्याकांड का तीन माह बाद भी नहीं हुआ खुलासा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इरफाना हत्याकांड का तीन माह बाद भी नहीं हुआ खुलासा

हौसला बुलंद बदमाशों ने 12 फरवरी को सरेआम इरफाना बानो की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इरफाना खेतासराय से आटो पर सवार हो शाहगंज आ रही थी। तीन माह बीत जाने के बाद भी पुलिस इस घटना का खुलासा नहीं कर सकी। अपराधी खुलेआम घूम रहे है। कोतवाली क्षेत्र के मोलनापुर गांव के मोड़ स्थित सनराइज स्कूल के सामने बाइक सवार बदमाशों ने टैम्पो सवार फूलपुर थाना क्षेत्र के बिसेखा गांव निवासी 28 वर्षीय इरफाना बानो पत्नी अब्दुल मन्नान को सीने में गोली मार दी थी। बताते हैं महिला खेतासराय चौराहे से टैम्पो में सवार हुयी थी। बाइक सवार दो बदमाशों ने मोलनापुर गांव के मोड़ के समीप सवारी उतारने के दौरान पीछे से आये और पिस्टल से आधा दर्जन गोली महिला के सीने में उतार दिया। मामले में पुलिस अधीक्षक समेत सीओ सिटी आदि ने मौका मुआयना कर जल्द खुलासे की बात कही थी। पुलिस ने पेशेवर बदमाशों का हाथ बताया था। बावजूद अभी तक पुलिस बदमाशों को चिन्हित तक नहीं कर पायी है। चुनाव के नाम पर अभी तक कोतवाली पुलिस मामले में टाल मटोल करती रही।

मामले में मृतका के भाई बिसेखा गांव निवासी अबुजर की तहरीर पर भुडकुड़हा गांव निवासी जेठ अब्दुल रहमान उर्फ दानिश व देवर मुस्तकिम समेत अन्य अज्ञात पर मामला दर्ज किया गया था। अज्ञात बदमाशों को पुलिस चिन्हित नहीं कर सकी। दावा किया गया था कि पेशेवर बदमाशों ने घटना को अंजाम दिया। वे पेशेवर बदमाश असलहा व बाइक अभी तक पुलिस की पकड़ से दूर है। वहीं घटना में कई रईसजादो का नाम सामने आ रहा है। पुलिस उन पर हाथ डालने से बचती रही। ऐसा क्यों हुआ यह तो पुलिस ही बता सकती है। इस बाबत कोतवाली निरीक्षक जयप्रकाश सिंह का कहना है कि इस वक्त लोग चुनाव में लगे हैं। अन्तिम चरण के मतदान के बाद इस पर कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Irfana murder case still not revealed after three months