DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › जौनपुर › कागज पर जल रहा चकदोस्त गांव का हाईमास्क लाइट
जौनपुर

कागज पर जल रहा चकदोस्त गांव का हाईमास्क लाइट

हिन्दुस्तान टीम,जौनपुरPublished By: Newswrap
Fri, 17 Sep 2021 06:50 PM
कागज पर जल रहा चकदोस्त गांव का हाईमास्क लाइट

बरसठी/जौनपुर। हिन्दुस्तान संवाद

ब्लाक में स्ट्रीट लाइट व हाइमास्क लाइट लगाने में ग्राम पंचायत अधिकारी व ग्राम प्रधान मिलकर खूब खेल किया है। चकदोस्त गांव में ऐसा ही मामला प्रकाश में आया है। इस ग्राम पंचायत में दो हाईमास्क लाइट के नाम पर पैसा तो निकल गया। लेकिन मौके पर एक ही लाइट लगी पायी। इसके अलावा गांव में सामुदायिक शौचालय भी कागज पर बन गया। लेकिन मौके पर आधा अधूरा ही पड़ा है। जबकि सीडीओ का सख्त निर्देश था कि सामुदायिक शौचालय जल्द से जल्द पूरा कराया जाए। ब्लाक के अधिकारियों व कर्मचारियों ने आनन फानन में कमरा बनवाकर ऊपर से रंग पेट कराकर दरवाजा लगवा दिया। लेकिन अभी काफी काम अधूरा पड़ा है। सामुदायिक शौचालय के मामले में चकदोस्त गांव अकेला नहीं है, बल्कि अभी दर्जन भर गांव ऐसे हैं जहां पर सामुदायिक शौचालय आधा अधूरा पड़ा है। यही नहीं सबसे अधिक चौकाने वाली बात यह है कि जहां पर शौचालय अधूरा है। वहां भी समूह की महिला की नियुक्ति देखरेख व सफाई के लिए कर दी गयी है।

उन्हें ग्राम निधि से प्रतिमाह छह हजार रुपये पेमेंट भी भुगतान किया जा रहा है। इसके अलावा सफाई के लिए सामान का भी तीन माह में तीन हजार रुपए भुगतान किया जा रहा है। सवाल यह है कि शौचालय चला नहीं और सफाई का सामान खरीदने के लिए समूह के खाते में पैसा चला गया। इस समय ब्लाक में सामुदायिक शौचालय व स्ट्रीट लाइट के नाम पर खूब बंदर बाट चल रहा है। गांव में दो हाईमास्क लाइट के नाम पर बीते 4 अगस्त को ही एक लाख 99 हजार 600 रुपए निकल गया। लेकिन मौके पर एक लाइट गांव के मंदिर पर लगी पायी है। दूसरी लाइट सिंर्फ कागज पर जल रही है। सामुदायिक शौचालय के नाम पर भी पैसा निकाल लिया गया। लेकिन अभी तक पूर्ण नहीं हुआ है। कमरा बनकर तैयार है, बर्तन भी लग, अभी तक टाइल्स आदि नहीं लग पाया है। गांव में 2 सीटर सामुदायिक शौचालय बन रहा है। जिसकी लागत तीन लाख रुपए है। बाहर से दिखने में तो पूर्ण दिख रहा है लेकिन अभी तक शौचालय का गड्ढा तक नहीं बना। गांव के दिनेश कुमार, शेषमनि, संतोष कुमार, शशिकला ने बताया कि अभी तक यह सामुदायिक शौचालय चालू नहीं हुआ है। चालू हो जाता तो बस्ती के लोगों को सुविधा होती।

कोट--

‘शौचालय अभी पूरा नही हुआ है,3 लाख की लागत से उसे बनना है, अभी एक लाख 10 हजार रुपये नही निकला है।पूर्ण कराने के लिए ग्राम पंचायत अधिकारी व ग्राम प्रधान को कह दिया गया है। हाई मास्क लाइट के बारे में जानकारी नही है।इसकी जानकारी करता हूं।

राधेश्याम यादव, एडीओ पंचायत बरसठी

संबंधित खबरें