DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  जौनपुर  ›  कोरोना संक्रमित से मिल डीएम ने जाना स्वास्थ

जौनपुरकोरोना संक्रमित से मिल डीएम ने जाना स्वास्थ

हिन्दुस्तान टीम,जौनपुरPublished By: Newswrap
Tue, 25 May 2021 03:11 AM
कोरोना संक्रमित से मिल डीएम ने जाना स्वास्थ

जौनपुर। संवाददाता

जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा एवं पुलिस अधीक्षक राजकरण नय्यर द्वारा खलसहा गांव में कोरोना पाजिटिव मरीज लालबहादुर यादव के घर जाकर उनके स्वास्थ्य के संबंध में जानकारी प्राप्त की गयी। जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि चिकित्सकों द्वारा दी गई दवा को समय से खाएं और बाहर न घूमे। इस दौरान प्रधान चन्द्रशेखर यादव से गांव में आए हुए प्रवासियों की संख्या की जानकारी प्राप्त की। प्रधान से निगरानी समिति का सहयोग करने का निर्देश दिया। गांव वालों से कहा कि किसी में कोरोना के लक्षण हो तो छिपाये नही। दवा मुफ्त में दी जा रही हैं, लक्षण समझ में आने पर तुरन्त कोरोना किट खाये। सी.एच.ओ सुनैना मौर्य ने बताया कि 22 मई को पूरे गांव में 50 एंटीजन एवं एवं 20 की आर टी पी सी आर से की जाँच की गई थी जिसमे 3 लोगो की रिपोर्ट पोजटिव आए थे।

इस अवसर पर उपजिलाधिकारी सदर नीतीश कुमार सिंह, आशा कार्यकत्री सुषमा देवी सहित ग्रामीण उपस्थित रहे।

गांव गांव हो रही सफाई

जौनपुर। कोरोना महामारी के प्रभावी नियंत्रण हेतु जनपद में कफ्र्यू के दौरान अभियान चलाकर ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्र, प्रमुख बाजारों सहित अन्य स्थानों पर सैनिटाइजेशन, फागिंग, दवा छिड़काव और साफ-सफाई के कार्य कराये जा रहे हैं। जिसके तहत विकासखण्ड बदलापुर, मड़ियाहूं, बरसठी, रामपुर के विभिन्न क्षेत्रों के सेनेटाइजेशन ओर साफ सफाई का कार्य किया गया।

डीएम ने किया गेंहू क्रय केन्द्र का निरीक्षण

जौनपुर। जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा एवं पुलिस अधीक्षक राजकरन नय्यर द्वारा शीतला चौकिया स्थित सब्जी मंडी में बने गेहूं क्रय केंद्र का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने किसानों से पूछा कि गेहूं विक्रय में किसी प्रकार की समस्या तो नही आ रही है , जिस पर किसानों द्वारा बताया गया कि यहाँ कोई समस्या नही हुई। उन्होंने एम.आई. कमलेश को निर्देश दिया कि कोई भी किसान वापस ना लौटे तथा गेहूं विक्रय में बिचौलियों की शिकायत ना आने पाए। जिलाधिकारी द्वारा एम. आई को निर्देशित किया गया कि गेहूं की डिलीवरी बढ़ाई जाए। इस दौरान उन्होंने इलेक्ट्रानिक कांटे की भी जांच की। मंडी परिसर में व्यक्त गंदगी देख कर मंडी सचिव का वेतन रोकने का निर्देश दिया। इस अवसर पर जिला पूर्ति अधिकारी अजय प्रताप सिंह एम.आई, करंजाकला प्रियंका सिंह व प्रमोद कुमार मौर्य उपस्थित रहे।

संबंधित खबरें