DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विवेचना में ढिलाई पर चन्दवक थानाध्यक्ष लाइन हाजिर

 चंदवक थाना क्षेत्र स्थित भूलनडीह में धर्मान्तरण के मामले में स्थानीय कोर्ट के आदेश पर 271 लोगों के खिलाफ दर्ज मुकदमे में विवेचना में ढिलाई बरतने पर पुलिस अधिक्षक ने बुधवार को विवेचक/थानाध्यक्ष चन्दवक शशि चौधरी को लाइन हाजिर कर दिया और विवेचना केराकत कोतवाल को सौंप दी है। 
बुधवार को इस मामले को जिले में समीक्षा बैठक में आयी प्रभारी मंत्री डा. रीता बहुगुणा के समक्ष भी उठाया गया।  विवेचना में लापरवाही के चलते अभी तक आरोपित फरार हैं। 

चन्दवक क्षेत्र के भूलनडीह गांव में लम्बे समय से धर्मान्तरण का मामला चला आ रहा था। इस मामले में  मुख्य संचालक दुर्गा यादव समेत 271 के विरुद्ध कोर्ट के आदेश पर चन्दवक थाने  में मुकदमा दर्ज किया गया है।  विनोद राय को विवेचक बनाया गया लेकिन विवेचक बदलकर महेन्द्र यादव को नया विवेचक नियुक्त कर दिया था। 

वादी अधिवक्ता बृजेश सिंह का आरोप था कि लोगों को लाभ पहुंचाने के लिए विवेचक को बदल दिया गया। जबकि पुलिस का कहना था कि खुद थानाध्यक्ष ही मामले की विवेचना कर रहे हैं। 

इस मामले में लखनऊ में भी उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश चन्द्र शर्मा के समक्ष प्रकरण उठाया गया। सूत्रों की मानें तो उप मुख्यमंत्री की ओर से मामले को संज्ञान में लेने पर पुलिस सक्रिय हो गयी। 

बुधवार को पुलिस अधीक्षक दिनेश पाल सिंह ने मामले को गम्भीरता से लेते हुए थानाध्यक्ष चन्दवक शशि चौधरी को लाइन हाजिर कर दिया और धर्मांतरण के आरोपियों की विवेचना का कार्य केराकत कोतवाल शशि भूषण राय को सौंप दिया है। शशिभूषण राय ने इस संबंध में आरोपी दुर्गा यादव के घर पहुंचकर तत्काल जांच पड़ताल भी शुरू कर दिया है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Chandakkal police station line spot on negligence in inquiry