अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हाथरस में कुलियों ने दिल्ली-हावड़ा ट्रैक साढ़े चार घंटे जाम किया

हाथरस में कुलियों ने दिल्ली-हावड़ा ट्रैक साढ़े चार घंटे जाम किया

उत्तर मध्य रेलवे के दिल्ली-हावड़ा ट्रैक को शुक्रवार को कुलियों ने साढ़े चार घंटे तक जाम रखा। ग्रुप-डी में कुलियों को नौकरी दिए जाने की मांग को लेकर देशभर से यहां आए करीब तीन हजार से अधिक कुलियों ने हाथरस जंक्शन पर रेलवे व प्रशासनिक अधिकारियों को घंटों चकरघिन्नी बनाए रखा। इस दौरान राजधानी और शताब्दी समेत 24 ट्रेनें जहां की तहां खड़ी हो गईं। रेलवे, पुलिस, प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। डीआरएम इलाहाबाद से बातचीत के बाद दोपहर सवा बारह बजे रेलवे ट्रैक को सुचारू किया जा सका। बुजुर्ग कुलियों के आश्रितों को रेलवे में नौकरी व मेडिकल अनफिट कुलियों को विभिन्न पदों पर समायोजित करने की मांग की मांग को लेकर देशभर से तीन हजार से अधिक कुली हाथरस जंक्शन स्टेशन पहुंचे। सुबह 07:45 बजे इन्होंने दिल्ली हावड़ा अप व डाउन ट्रैक पर बैठक इसे जाम कर दिया। पहले से तैयारी करके आए कुलियों ने रेलवे ट्रैक पर बैनर-झण्डे लगा दिए। इस दौरान दिल्ली व कानपुर की ओर ट्रेनों की लाइनें लग गईं। दोनों ओर राजधानी व शताब्दी ट्रेनों के साथ तमाम ट्रेन एक के पीछे एक खड़ी हो गईं। शुरुआती दौर में पहुंचे एसडीएम सदर अरुण कुमार सिंह व सीओ सिटी सुमन कनौजिया ने कुलियों को समझाने की कोशिश की। बाद में डीएम रमाशंकर मौर्य व एसपी जय प्रकाश भी गए लेकिन कुली अपनी मांग पर अड़े रहे और ट्रैक को खोलने के लिए तैयार नहीं हुए। रेलवे ट्रैक जाम करने की सूचना और कुलियों के नहीं मानने पर डीआईजी अलीगढ़ रेंज प्रीतेन्द्र सिंह व कमिश्नर अजयदीप सिंह भी आ गए। आरपीएफ असिस्टेंट कमाडेंट टूण्डला योगेन्द्र पाल सिंह व आरपीएफ विजीलेंस इंस्पेक्टर भोलाशंकर ने डीआरएम इलाहाबाद मण्डल से बात कराकर कुलियों को ट्रैक छोड़ने को राजी किया। इसके बाद 12:20 पर ट्रैक को सुचारू कराया गया। डीआरएम इलाहाबाद ने कुलियों की सात सदस्यीय कमेटी का गठन कर उन्हें 11 सितम्बर को बातचीत के लिए बुलाया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Hathras in Delhi-Howrah track jam for four and a half hours