DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  हरदोई  ›  10 केंद्रों पर लगेंगे युवाओं को टीका

हरदोई10 केंद्रों पर लगेंगे युवाओं को टीका

हिन्दुस्तान टीम,हरदोईPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 04:51 AM
10 केंद्रों पर लगेंगे युवाओं को टीका

हरदोई। संवाददाता

जनपद में मंगलवार को युवाओं के लिए 10 वैक्सीनेशन केंद्र संचालित किए जाएंगे। यहां पर 18 वर्ष से 44 वर्ष तक के लोगों को टीकाकरण किया जाएगा। जिन लोगों का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन नहीं होगा या फिर स्लाट पर बुकिंग नहीं कराएगा तो फिर उनको वैक्सीन नहीं लगेगी।

स्वास्थ्य विभाग के नोडल अधिकारी डॉ. प्रशांत रंजन ने बताया की रजिस्ट्रेशन के लिए लिंक का प्रचार प्रसार कराया जा रहा हैै। इसके अलावा आरोग्य सेतु एप, उमंग ऐप पर भी रजिस्ट्रेशन किया जा सकता है। एक ही मोबाइल नंबर से चार व्यक्तियों का रजिस्ट्रेशन किया जा सकता है। ताकि सभी का आसानी से टीकाकरण किया जा सके। बीएसए, डीआईओएस के टीचर व पत्रकारों के लिए जीआईसी में वैक्सीनेशन केंद्र संचालित होगा। जहां पर सभी का टीकाकरण किया जाएगा।

इन केंद्रों पर होगा वैक्सीनेशन

नोडल अधिकारी डॉ.प्रशांत रंजन ने बताया कि जिला अस्पताल, सीएचसी मल्लावां, पिहानी, माधौगंज, कछौना, हरियावा, टोंडरपुर, टड़ियावां, बिलग्राम, शाहाबाद सीएचसी पर वैक्सीनेशन किया जाएगा। इस तरह से जनपद में 10 वैक्सीनेशन केंद्र 18 प्लस आयु वालों के लिए संचालित होंगे।

यह बनेंगे अभिभावक बूथ

जनपद में दो केंद्रों को कोविड-19 नेशन सेंटर स्पेशल अभिभावक के लिए चिन्हित किया गया है। जिला महिला अस्पताल के बूथ पर 100 अभिभावकों का टीकाकरण किया जाएगा। प्रत्येक सत्र में केवल 12 वर्ष की आयु के बच्चों के माता-पिता का टीकाकरण किया जाएगा। कोविंन पोर्टल पर 12 वर्ष से कम आयु के माता-पिता अपना ऑनलाइन पंजीकरण अभिभावक स्पेशल सत्रों के लिए करा कर निर्धारित पर टीकाकरण कराएंगे। टीकाकरण के समय में अभिभावकों को अपने बच्चों की उम्र 12 वर्ष से कम होने का प्रमाण, आधार कार्ड जन्म प्रमाण पत्र, स्कूल पहचान पत्र में से कोई एक प्रमाणपत्र प्रस्तुत करना होगा। सुरक्षा कर्मी द्वारा अभिभावकों के बच्चों के प्रमाण पत्र का सत्यापन करने के बाद ही प्रवेश करने की अनुमति होगी। ऐसे अभिभावक जो 12 वर्ष से कम उम्र के माता-पिता नहीं हैं। उनको प्रवेश द्वार से वापस लौटा दिया जाएगा।

चार वर्कप्लेस कोविड-19 वैक्सीनेशन सेंटर बनेंगे

जनपद में न्यायालय में एक तथा राजकीय इंटर कॉलेज में तीन वर्कप्लेस सीवीसी बनाए गए हैं। इनमें प्रत्येक सीवीसी में विभाग द्वारा चिन्हित 50 लोगों का टीकाकरण किया जाएगा। न्यायालय कर्मी, सूचना एवं जनसंपर्क विभाग, बोर्ड परीक्षा में ड्यूटी में लगे राजकीय एवं परिषदीय शिक्षकों को वरीयता के रूप में टीका लगाया जाएगा।

45 अधिक आयु के 884928 में से 128366 को लगी पहली डोज

जनपद में 45 वर्ष से अधिक आयु के आठ लाख 84 हजार 928 लोगों में से एक लाख 28 हजार 366 को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगाई जा चुकी है। इसमें से अधिकांश स्वास्थ्य कर्मी, पुलिस कर्मी, सफाई कर्मचारी व अन्य फ्रंट लाइन वर्कर हैं। यह आंकड़ा टीकाकरण के लिए निर्धारित किए गए लक्ष्य का लगभग 3.28 फीसदी बैठता है। इसमें अगर 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों को भी जोड़ा जाए तो वैक्सीनेशन का प्रतिशत दो से भी कम हो जाएगा।

इन हालातों में कोरोना कर्फ्यू में दी जाने वाली ढील ने सिहरन बढ़ा दी है। लोगों को आशंका है प्रशासन की जरा सी लापरवाही सड़कों-बाजारों में उमड़ने वाली भीड़ को अनियंत्रित कर सकती है। अगर ऐसा हुआ तो कोविड संक्रमण एक बार फिर से बेकाबू हो सकता है। ऐसे में तेजी से टीकाकरण और कोविड प्रोटोकाल का पालन ही हमें संक्रमित होने से बचा सकता है। इसको लेकर जिला प्रशासन और स्वास्थ्य महकमें ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। जहां जिला प्रशासन कोरोना कर्फ्यू में मिलने वाली राहत में भी स्थितियों को नियंत्रित करने का प्रयास करेगा। वहीं स्वास्थ्य महकमा अधिक से अधिक टीकाकरण के लिए कार्ययोजना बना चुका है। जिला प्रशासन का कहना है टीकाकरण का दायरा बढ़ाया जाएगा।

डीएम अविनाश कुमार ने कहा कि शासन के निर्देशों के तहत सुबह से शाम सात बजे तक कोविड कर्फ्यू से राहत दी गई है। हालांकि कोविड प्रोटोकॉल का पालन और भी सख्ती से करवाया जाएगा। लोगों से अपील है दो गज की दूरी, मास्क जरूरी नियम का पालन करें। अपनी बारी आने पर टीका अवश्य लगवाएं। जो लापरवाही बरतेगा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। दुकानदार भी नियमों का पालन करते हुए सामान बेंचेंगे। छापेमारी के दौरान गाइडलाइन का उल्लंघन करते मिले तो कानूनी कार्रवाई होगी।

संबंधित खबरें