DA Image
7 अगस्त, 2020|1:57|IST

अगली स्टोरी

रोड पर दीवार बन गई तालाब खुदाई से निकली मिट्टी

रोड पर दीवार बन गई तालाब खुदाई से निकली मिट्टी

1 / 3इस समय नुमाइश चौराहा से रोडवेज बस स्टैंड होते हुए जेल रोड जाने की कोशिश न करें। ऐसा करें तो रास्ते से वापस लौटना पड़ेगा। क्योंकि रास्ते में तालाब खुदाई से निकली मिट्टी दीवार बन गई है। रोजाना जानकारी...

रोड पर दीवार बन गई तालाब खुदाई से निकली मिट्टी

2 / 3इस समय नुमाइश चौराहा से रोडवेज बस स्टैंड होते हुए जेल रोड जाने की कोशिश न करें। ऐसा करें तो रास्ते से वापस लौटना पड़ेगा। क्योंकि रास्ते में तालाब खुदाई से निकली मिट्टी दीवार बन गई है। रोजाना जानकारी...

रोड पर दीवार बन गई तालाब खुदाई से निकली मिट्टी

3 / 3इस समय नुमाइश चौराहा से रोडवेज बस स्टैंड होते हुए जेल रोड जाने की कोशिश न करें। ऐसा करें तो रास्ते से वापस लौटना पड़ेगा। क्योंकि रास्ते में तालाब खुदाई से निकली मिट्टी दीवार बन गई है। रोजाना जानकारी...

PreviousNext

इस समय नुमाइश चौराहा से रोडवेज बस स्टैंड होते हुए जेल रोड जाने की कोशिश न करें। ऐसा करें तो रास्ते से वापस लौटना पड़ेगा। क्योंकि रास्ते में तालाब खुदाई से निकली मिट्टी दीवार बन गई है। रोजाना जानकारी के अभाव में सैकड़ों लोग जाने के बाद बैरंग वापस लौटने को मजबूर होते हैं।

नागरिकों ने बताया कि लोकनिर्माण विभाग के निरीक्षण भवन के सामने तालाब की खुदाई का कार्य तेजी से शुरू हो गया है। हालांकि इस दौरान निकली मिट्टी को अन्यत्र फिंकवाने के बजाय रोड पर डाल दिया गया है। पोकलैंड मशीने मिट्टी की खुदाई लगातार कर रही हैं। बीते वर्षों की तरह एक बार फिर ठेकेदार मिट्टी उठाकर आबादी क्षेत्र से बाहर फिंकवाने में विलंब कर रहे हैं। मिट्टी का ढेर अब आसपास के दुकानदारों के लिए भी मुसीबत बना है। क्योंकि उनके यहां ग्राहक कम आ रहे हैं। वहीं विभिन्न सरकारी दफ्तरों व रोडवेज बस अड्डा आने वालों को घूमकर आना पड़ता है। मिट्टी के ढेर जमा होने संबंधी कोई सूचना बोर्ड भी नहीं लगाया गया है। प्राइवेट व रोडवेज की बसें भी दूसरे रास्ते से होकर बस अड्डे तक आ-जा पा रही हैं।

पालिकाध्यक्ष सुखसागर मिश्र कहते हैं कि तालाब सौंदर्यीकरण कराने के लिए खुदाई चल रही है। मिट्टी गीली होने की वजह से सड़क पर डाली गई है। जल्द उसे उठवाकर रास्ता खुलवाने के निर्देश ठेकेदारों को देंगे।

रोड पर जमा की गई मिट्टी उठाने में देरी से पब्लिक परेशान है, लेकिन क्षेत्रीय सभासद व अन्य जनप्रतिनिधि मौन हैं। वे जानकर भी अनजान बनने का नाटक कर रहे हैं। इससे लोगों में नाराजगी है। कांग्रेस जिलाध्यक्ष आशीष सिंह का कहना है कि तत्काल मिट्टी हटवाने का इंतजाम कराया जाए। क्योंकि यदि बारिश हुई तो यह फिर से बहकर तालाब में समा जाएगी। ऐसे में खुदाई का क्या मतलब रहेगा? बीते वर्ष भी इसी तालाब की खुदाई के बाद मिट्टी सड़क किनारे जमा कर दी गई थी जो उसी में भर गई।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The wall on the road became mud from the pond digging