DA Image
26 नवंबर, 2020|6:11|IST

अगली स्टोरी

अब तक 40 फीसदी खरीद के साथ गेहूं खरीद का लक्ष्य दूर

अब तक 40 फीसदी खरीद के साथ गेहूं खरीद का लक्ष्य दूर

एक लाख 46 हजार पांच सौ मीट्रिक टन गेहूं खरीद कर किसानों को समर्थन मूल्य दिलाने व उनकी आमदनी बढ़ाने की कवायद अधर में लटक गई है। अब तक मात्र 40 फीसदी खरीद हो सकी है। जबकि एक महीने से ज्यादा का समय बीत चुका है। जिले भर में बारदाना की कमी के चलते चार क्रय केंद्र भी अब तक नहीं शुरू हो सके हैं। 72 घंटे में भुगतान का दावा अधूरा होने के कारण किसान 200 से 250 रुपये प्रति कुंतल सस्ते रेट पर आढ़त पर गेहूं बेंच रहे हैं।

जिला प्रशासन की मानें तो अब तक 59864 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद हो चुकी है। किसानों को 11523 लाख रुपए के मुकाबले अब तक 8573 लाख रुपए का भुगतान भी किया जा चुका है। इसके बावजूद अब तक 2950 लाख रुपए का भुगतान बकाया है। यही नहीं अधिकांश क्रय केंद्रों पर अब गेहूं आना भी बंद हो चुका है। ऐसे में न तो लक्ष्य के मुकाबले गेहूं खरीद होना संभव दिख रहा है। डिप्टी आरएमओ अनुराग पांडे ने बताया गेहूं खरीद के प्रयास जारी हैं। किसी भी किसान को क्रय केंद्र से वापस नहीं किया जाएगा। कोशिश की जा रही है सभी किसानों का गेहूं खरीदा जाए।

अब तक 10561 किसानों को ही गेहूं खरीद का लाभ मिला है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है, छोटे किसान या तो अपना गेहूं विक्रय नहीं कर पाए हैं, अथवा उनकी छमता अपना गेहूं बेंचने की ही नहीं है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Target to buy wheat with 40 percent purchase so far