DA Image
4 नवंबर, 2020|8:16|IST

अगली स्टोरी

पंचायत भवन खस्ताहाल, कहां बैठे गांव की सरकार

पंचायत भवन खस्ताहाल, कहां बैठे गांव की सरकार

ब्लॉक टोंडरपुर के ग्राम सलेमपुर के पंचायत भवन की हालत बेहद खस्ताहाल हो गयी है। चारों तरफ गंदगी का अंबार है। इससे पंचायत बैठकें हो या उच्चाधिकारी का निरीक्षण के लिए समस्या उत्पन्न हो रही है।

बिडम्बना है कि पूरे ग्राम पंचायत के विकास का जिम्मा उठाए गांव की सरकार अपने पंचायत भवन का ही रख-रखाव नही कर पा रही है। जहां सरपंच सचिव और प्रधान के बैठने की जगह है वहां भैसे बांधी जा रही हैं। जिन कमरों में पंचायत के कागजात रखने चाहिए थे, वहां भूसा भरा हुआ है। फिर भी प्रधान, सचिव मौन धारण किये हुए है। आखिर सरकारी धन का इतना दुरपयोग क्यों? ग्रामीण किसकी सहमति से ग्राम सचिवालय में जानवर बांध रहे हैं और भूसा भर रहे हैं अब उनके खिलाफ कार्यवाही क्यो नही हुई। इसका जवाब न ग्राम प्रधान के पास न ग्राम विकास अधिकारी के पास।

ग्राम प्रधान प्रतिनिधि मुदित गुप्त ने बताया कि करीब 15 वर्ष पहले ग्राम सचिवालय का निर्माण किया गया था। इस समय भवन की मरम्मत की आवश्यकता है। अभी ग्राम सभा के पास पैसा नही है। धन की उपलब्धता होने पर जल्द मरम्मत कार्य कराया जाएगा। गांव के कुछ लोग जानवर आदि बांधते थे। जिनको मना कर दिया गया है। एडीओ पंचायत आशीष बाजपेयी ने बताया सलेमपुर में अभी सामुदायिक शौचालय का भुगतान नही हो सका है। भुगतान होने पर पंचायत भवन की मरम्मत का कार्य किया जाएगा।

ग्राम टोंडरपुर का सचिवालय भी बदहाली के आंसू बहा रहा है। लेकिन उसकी सुध लेने वाला कोई नहीं है। एक तरफ इस गांव ने प्रधान से लेकर ब्लॉक प्रमुख तक को दिया है। लेकिन बदले में गांव को उपेक्षा ही हाथ लगी है। ग्राम प्रधान उमा देवी बताती है पंचायत घर 1987-88 में बना था। इमारत जर्जर हालात में है। इसकी कार्य योजना उन्होंने बना ली है। जल्द मरम्मत का कार्य प्रारंभ करा दिया जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Panchayat Bhawan is in trouble where is the village government sitting