DA Image
24 जनवरी, 2021|11:09|IST

अगली स्टोरी

अपात्रों को दिया था आवास अब रिकवरी में नहीं ले रहे रुचि

default image

विकासखंड भरावन की ग्राम पंचायत दुलानगर में अपात्रों को फर्जी तरीके से सचिव ने लोहिया आवास दे दिया था। इसमें परियोजना निदेशक व बीडीओ एक के बाद एक आदेश करके अपात्रों से रिकवरी करवा कर जमा करने की बात कह रहे हैं। पर नतीजा सिफर है। आरोप है कि ग्राम पंचायत अधिकारी इसमें रुचि नहीं ले रहे हैं। अपात्रों को दिए गए आवासों की रिकवरी कराने के मामले में वह उच्चाधिकारियों के आदेश को धता बता रहे हैं।

किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष निर्मल शुक्ल ने बताया कि ग्राम पंचायत सचिव ने जिले पर साठगांठ करके सहायक विकास अधिकारी पंचायत (एडीओ पंचायत) का प्रभार भी ग्रहण कर रखा है। इसके चलते वह ब्लॉक के बाकी कर्मचारियों पर जमकर रौब जामाते हैं। उनका आरोप है कि सचिव ने अपनी ग्राम पंचायतों में काफी भ्रष्टाचार किया है। इसकी शिकायत उच्चाधिकारियों से की गई है। बहुती गांव में विकास कार्यों में तमाम भ्रष्टाचार के आरोप भी लगे हैं। वहां के जिला पंचायत सदस्य सहित ग्राम पंचायत सदस्य व समाज सेवकों ने मुख्यमंत्री व प्रमुख सचिव से शिकायत की है। ऐसे व्यक्ति को विकासखंड के महत्वपूर्ण पद पर रखना ठीक नहीं है। जबकि इनसे वरिष्ठ ग्राम पंचायत अधिकारी ब्लॉक में कार्यरत हैं।

युवा मोर्चा के मंडल अध्यक्ष विशाल शुक्ल ने कहा कि सचिव सरकार की नीतियों के विरुद्घ कार्य कर रहे हैं। भ्रष्टाचार में लिप्त होने का मामला भी सामने आया है। उन्होंने दुलानगर ग्राम पंचायत में वर्ष 2016-17 में अपात्र व्यक्तियों अर्चना, पुष्पा और कल्याण को लोहिया आवास आवंटित किए थे। ग्रामीणों की शिकायत के बाद परियोजना निदेशक जिला ग्राम्य विकास अभिकरण ने 17 जुलाई को रिकवरी जमा करने का आदेश दिया गया था। इस पर कोई कार्य न करने पर बीडीओ सुधीर कुमार ने 4 अगस्त के आदेश द्वारा सचिव को कार्यवाही की चेतावनी देते हुए अंतिम मौका दिया है। लेकिन डेढ़ माह बीत जाने के बाद भी मामले में कोई प्रगति नहीं हुई है। बीडीओ सुधीर कुमार ने बताया कि पत्र जारी कर सचिव व प्रधान को दुलानगर में तीनों अपात्रों के आवासों की रिकवरी करवाकर जल्द धनराशि जमा कराने के निर्देश दिए हैं। जल्द इसका पालन कराएंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Ineligible residents were now not interested in recovery