अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भ्रष्टाचार से हो रहा है किसानों का शोषण

भ्रष्टाचार से हो रहा है किसानों का शोषण

भारतीय कृषक दल ने राष्ट्रीय अध्यक्ष सरोज दीक्षित के नेतृत्व में किसानों की समस्याओं को लेकर कलक्ट्रेट में प्रदर्शन कर नारेबाजी की। सरकार व अफसरों पर किसानों की अनदेखी करने का आरोप लगाया। कहा कि कृषि व ग्रामीणों की अनदेखी की जा रही है। सरकारी विभागों में व्याप्त धन उगाही से किसान परेशान हैं। सुविधाशुल्क लिए बगैर कोई काम न करने की आदत पड़ गई है, जो किसानों के लिए उत्पीड़न का कारण बन गया है।

जिलाधिकारी पुलकित खरे के जरिये राज्यपाल को ज्ञापन भेजकर समस्याएं गिनाई गईं। किसान नेताओं ने कहा कि सरकार वोट व जाति की राजनीति में उलझ गई है। बिजली विभाग किसानों का सर्वाधिक आर्थिक शोषण कर रहा है। नलकूप कनेक्शन देते समय मीटर का रुपया जमा लिया जाता है लेकिन मीटर नहीं लगाया जाता है। बाद में बगैर मीटर के मनमाना बिल वसूला जाता है। कनेक्शन देने के नाम पर भी किसानों का आर्थिक शोषण होता है। कृषि विभाग तय कीमत से ज्यादा दाम पर यूरिया, डीएपी, कृषि रसायन घटिया किस्म का बेंच रहा है।

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि वनरोज व आवारा मवेशी फसलों को भारी नुकसान पहुंचा रहे हैं। फसल बीमा किसानों के लिए मजाक बनता जा रहा है। प्रधानमंत्री आवास योजना में भ्रष्टाचार का बोलबाला है। अपात्रों को आवास देकर अधिकारी व कर्मचारी जेबें भर रहे हैं। स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माण की योजना मेंं भी कमीशनखोरी का बोलबाला है। प्रधान, सचिव अधिकारियों से मिलकर पीली ईंटों से ठेका देकर शौचालय बनवा रहे हैं। राज्यपाल से अनियमितताओं पर अंकुश लगाने के लिए जांच व कार्रवाई की मांग की गई है। इस मौके पर पेंशनर एसोसिएशन के अध्यक्ष बुद्धिसागर शुक्ला, शिशुपाल सिंह, सोनेलाल अवस्थी, रघुनंदन सिंह, मोहन सिंह, सुभाष द्विवेदी, सुरेंद्र सिंह, रंजीत यादव, पंकज तिवारी, मो. इसरार अली आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Exploitation of farmers by corruption