DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बंधक बनाकर भैंस की लूट करने वाले गिरोह का हुआ खुलासा

बंधक बनाकर भैंस की लूट करने वाले गिरोह का हुआ खुलासा

बघौली पुलिस ने चार भैंस लुटेरों को गिरफ्तार कर चर्चा का विषय बन गई। हांलाकि पुलिस ने जिन चार लुटेरों को दबोचा उन्हे एक शातिर बदमाश होने का दावा कर रही है।

बुधवार को एसपी आलोक प्रियदर्शी ने भैस लुटेरो के गैंग का खुलासा करते हुए बताया कि बघौली थाना क्षेत्र के मोहद्दीनपुर हीरालाल निवासी रामगोपाल की तीन भैस एक सितम्बर को बंधक बनाकर घर के बाहर से लूट ले गए थे। जिसकी पीड़ित की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज की गई थी। उसी मामले में बघौली पुलिस टीम को खुलासे के लिए लगाया गया था। साथ ही में स्वाट टीम प्रभारी इंस्पेक्टर आलोक सिंह को भी लगाया गया था। एसपी के मुताबिक मंगलवार की शाम को पुलिस टीम को सूचना मिली की थाना क्षेत्र के उमरापुर पुल के पास चार लोग संदिग्ध हालत में खड़े होने पर दबोच लिया गया।

उसके बाद पूछताछ की गई तो लूटेरों ने अपने नाम रावेंद्र सिंह निवासी मेंडुआ कोतवाली देहात, रहीस निवासी महमूदपुर सरैया थाना पिहानी, जुम्मन निवासी अब्दुलपुरवा कोतवाली देहात व जलील निवासी कन्नौजीपुर टड़ियाया बताया। सभी का आपराधिक इतिहास का पता लगाया जा रहा है। पुलिस का दावा है कि लुटेरों ने कई भैंस चोरी की वारदातों को अंजाम देने की बात स्वीकार की।

लोडर लेकर जाते थे भैस लूटने

पुलिस का यह भी कहना है इस गिरोह के लुटेरों ने पूछताछ के दौरान यह भी कबूल किया है जब वह कही भी भैसों की लूट करने पहुंचते थे। वहां पर अपना खुद लोडर जाते थे। जिससे वारदात को अन्जाम देने के बाद फरार हो जाते थे।

इस तरह से हुई बरामदगी

बघौली पुलिस ने भैंस लुटेरो के कब्जे से दो अवैध तमंचे भैंसों की बिक्री से बचा 10 हजार रुपया व पिकअप डाला बरामद किया है। वही एसपी की ओर से खुलासा करने वाली टीम को पांच हजार रुपए का नगद ईनाम भी दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Explanation of buffalo gang robbery by making hostage