DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मरीजों को गांव से ले जाने लिए एंबुलेंस भी नहीं आ पाती

मरीजों को गांव से ले जाने लिए एंबुलेंस भी नहीं आ पाती

विकास खंड टोडरपुर की ग्राम पंचायत उमरौली के ग्राम सुंदरपुर की समस्याओं के समाधान के लिए बुधवार को ग्रामीण जिला मुख्यालय पहुंचे। ग्रामवासी बोले, साहब सड़क का हाल ये है कि यदि कोई बीमार पड़ जाए तो मरीज को जाने के लिए गांव तक एंबुलेंस नहीं पहुंच पाती है।

सुबोध अवस्थी, उमेश मिश्रा, अमित त्रिवेदी समेत सैकड़ों ग्रामीण नारेबाजी करते हुए कलक्ट्रेट पहुंचे। यहां शिकायती पत्र देकर बताया कि टोडरपुर से होकर जाने वाले पिहानी-शाहाबाद मार्ग से सुंदरपुर तक एक किलोमीटर सड़क का खस्ताहाल है। करीब 35 साल से ये कच्चा मार्ग पक्का नहीं हो सका। इससे ग्रामवासियों को आने-जाने में परेशानी होती है। आए दिन वाहन चालक गड्ढों में गिरकर घायल हो जाते हैं।

शिकायतकर्ताओं ने कहा कि ग्राम पंचायत के विकास के लिए आने वाले कार्यों में धांधली की जा रही है। भ्रष्टाचार की उच्च स्तरीय जांच कराकर कार्रवाई की जाए। ग्राम पंचायत प्रतिनिधि द्वारा विकास योजनाओं में धांधली की जांच हो। स्ट्रीट लाइटों के नाम पर सरकार से पैसा लिया गया है लेकिन लाइटें नहीं लगवाई गई। स्वच्छ भारत मिशन में भी गड़बड़ी है। आरोप है कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पात्रों को लाभ से वंचित कर दिया जाता है। 20 हजार रुपये सुविधाशुल्क देने वाले अपात्रों को आवास दे दिए गए हैं। वहीं, पंचायत भवन के निर्माण के लिए ग्राम पंचायत में वर्ष 2017-18 में छह लाख रुपये निकालकर कागजों में ही निर्माण की कार्यवाही पूरी कर ली गई। एक भई नई ईंट पंचायत भवन के नाम से नहीं लगाई गई। 28 लाख रुपये ग्राम पंचायत में अंत्येष्टि स्थल के निर्माण के लिए 2017-18 में निकाले गए लेकिन कहीं पर भी निर्माण नहीं हुआ है। करीब तीन करोड़ रुपये की धनराशि का घपला गांव में किया गया है, जिस कारण ग्रामीण सरकारी योजनाओं के लाभ से वंचित हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: An ambulance can not even be taken from the village to the patients