ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश हापुड़नहर से मिट्टी उठाने में हो रही खुली धांधली

नहर से मिट्टी उठाने में हो रही खुली धांधली

मध्य गंगनहर से मिट्टी उठाने में बड़े स्तर पर धांधली के साथ निर्धारित गहराई में अधिक मिट्टी उठाई जा रही है। इससे आसपास के ग्रामीणों में रोष व्याप्त...

नहर से मिट्टी उठाने में हो रही खुली धांधली
default image
हिन्दुस्तान टीम,हापुड़Fri, 14 Jun 2024 12:35 AM
ऐप पर पढ़ें

मध्य गंगनहर से मिट्टी उठाने में बड़े स्तर पर धांधली के साथ निर्धारित गहराई में अधिक मिट्टी उठाई जा रही है। इससे आसपास के ग्रामीणों में रोष व्याप्त है। उन्होंने सिंचाई विभाग और ठेकेदार के बीच मिलीभगत होने का आरोप लगाते हुए आंदोलन करने की चेतावनी दी है।

जनपद मेरठ से होकर निकल रही मध्यगंग नहर गढ़ और सिंभावली क्षेत्र के साथ ही बुलंदशहर होती हुई कई जनपदों से जुड़ी है। प्रबंधन का कार्य कर रहे सिंचाई विभाग ने मध्य गंगनहर से मिट्टी उठवाने के लिए करीब 70 किलोमीटर वाले क्षेत्र का डेंटर 1 करोड़ 80 लाख में छोड़ा हुआ है। टेंडर प्रक्रिया से जुड़ी शर्तों के अनुसार मिट्टी उठाने के लिए अलग-अलग स्थानों पर गहराई की सीमा भी तय की हुई है। ग्रामीण शिवकुमार, कटार सिंह, विनोद, दानिश, इकराम, रिजवान, राशिद का कहना है कि ठेकेदार द्वारा अधिक गहराई में मिट्टी का उठान कराया जा रहा है। जिसके कारण नहर की गहराई काफी अधिक होने से बरसात के मौसम में पानी की सप्लाई आते ही अनहोनी घटना होने का खतरा कहीं अधिक बढ़ जाएगा। गर्मी के मौसम में बच्चों समेत सैकड़ों ग्रामीण राहत पाने के लिए नहर में डुबकी लगाते हैं। इसके अलावा अधिकांश किसान अपने पशुओं को नहर में ही नहलाने के साथ पानी भी पिलाते हैं। इससे झड़ीना, हैदरपुर, सैदपुर, कल्याणपुर, शाहपुर चौधरी, कुलपुर, खेड़ा खडग़पुर, जमालपुर, दौताई, खिलवाई, अठसैनी, बदरखा, वैठ समेत अधिकांश गांवों के ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।

भाकियू ने कार्रवाई न होने पर धरने की चेतावनी दी

भाकियू टिकैत के मंडल प्रवक्ता दिनेश त्यागी, युवा मंडल अध्यक्ष जीते चौहान, महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष बबली त्यागी ने मध्य गंग नहर से मिट्टी उठवाने में की जा रही धांधली पर कड़ी नाराजगी जताई। भाकियू नेताओं का आरोप है कि ठेकेदार द्वारा की जा रही मनमानी में सीधे तौर पर सिंचाई विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत प्रतीत हो रही है। उन्होंने कार्रवाई न होने पर धरने पर बैठने की चेतावनी दी है।

.................

यह बोले जिम्मेदार

सिंचाई विभाग के एक्सईएन हिमांशु कुमार का कहना है कि टेंडर से जुड़ीं शर्तों का किसी भी दशा में उल्लंघन होने पर टेंडर निरस्त करते हुए कार्रवाई भी की जाएगी। जन शिकायतों के आधार पर अवर अभियंता को जांच सौंपी गई है, जिनकी रिपोर्ट मिलते ही अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

एसडीएम साक्षी शर्मा का कहना है कि इस संबंध में आ रहीं शिकायतों के आधार पर सिंचाई विभाग को तत्काल जांच और कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है। जिसमें कोई भी लापरवाही सहन नहीं होगी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।