ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश हापुड़पिलखुवा में रोडवेज बस अड्डे की दरकार,कोई सुनवाई नहीं

पिलखुवा में रोडवेज बस अड्डे की दरकार,कोई सुनवाई नहीं

नगर पालिका की विकास योजना के अंतर्गत चण्डी मंदिर के नजदीक लाखों रूपये की लागत से बना बस अड्डा पिछले 25सालों से अधिक समय से आबाद होने को तरस रहा...

पिलखुवा में रोडवेज बस अड्डे की दरकार,कोई सुनवाई नहीं
हिन्दुस्तान टीम,हापुड़Tue, 28 Nov 2023 11:40 PM
ऐप पर पढ़ें

नगर पालिका की विकास योजना के अंतर्गत चण्डी मंदिर के नजदीक लाखों रूपये की लागत से बना बस अड्डा पिछले 25सालों से अधिक समय से आबाद होने को तरस रहा है। नगर पालिका व रोडवेज विभाग की अनुमति व सहमति के बावूजद अधर में लटका पड़ा है। पिछले काफी समय से बस अड्डा अतिक्रमण की चपेट में है। वहीं नगर पालिका को राजस्व से कोई खास फायदा नहीं है। इस बस अड्डे के आबाद होने से जहां रोजगार के अवसर पैदा होंगे, वहीं रात में भी एलिवेटेड बनने के बाद नगर में आने वालों के लिए बसों को लेकर असुविधा नहीं उठानी पड़ेगी। नगर पालिका अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार नगर और ग्राम नियोजक विभाग की प्लांनिग पर संगठित विकास योजना के अंतर्गत नगर पालिका ने इस बस अड्डे का निर्माण 1995 में हुआ था। तब बस अड्डे की लागत 17 लाख रूपये आई थी। बस अड्डे के अन्दर श्रम और सहायक नियोजक के ऑफिस के अलावा , टिकट खिड़की, पीने के पानी की सुविधा, बिजली वाली लाइट, यात्रियों के बैठने-उठने के लिए बरामदा, शुलभ शौचालय आदि है। बस के लिए बढ़िया सड़क, बसों को रूकने के लिए काफी जगह है, जहां एक साथ 25 से ज्यादा बसें खड़ी हो सकती हैं।

25 सालों से अब तक क्या हुआ--

रोडवेज विभाग को लखनऊ मुख्यालय से सहमति मिल चुकी है। नगर पालिका भी रोडवेज विभाग को संचालन के लिए एनओसी दे चुकी है। लेकिन बिजली कनेक्शन,अतिक्रमण नहीं हटाने,बिल्डिंग पुताई नहीं होने,साफ सफाई नहीं होने की वजह बनी हुई है। कई बार रोडवेज विभाग व नगर पालिका के बीच सहमति बन चुकी है,उसके बावूजद भी बस अड्डे का संचालन नहीं हो पा रहा है।

जनप्रतिनिधियों के प्रयास जारी--

पिछले 25 वर्षों से इलाके के जनप्रतिनिधि चुनावों के समय रोडवेज बस अड्डा बनाने का आश्वासन देते है। लेकिन लगातार प्रयास जारी है। पालिका के चेयरमैन विभू बंसल का कहना है कि जल्द ही रोडवेज बस अडडा संचालित कराया जाएगा।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें