ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश हापुड़मेरठ के छात्र की सडक़ दुर्घटना में हुई मौत

मेरठ के छात्र की सडक़ दुर्घटना में हुई मौत

प्रोजेक्ट जमा करने आते समय स्कूटी को अज्ञात वाहन द्वारा चपेट में लेने से मेरठ के छात्र की मौत हो गई, जो बीटैक प्रथम वर्ष की पढ़ाई कर रहा...

मेरठ के छात्र की सडक़ दुर्घटना में हुई मौत
हिन्दुस्तान टीम,हापुड़Thu, 22 Feb 2024 12:20 AM
ऐप पर पढ़ें

प्रोजेक्ट जमा करने आते समय स्कूटी को अज्ञात वाहन द्वारा चपेट में लेने से मेरठ के छात्र की मौत हो गई, जो बीटैक प्रथम वर्ष की पढ़ाई कर रहा था।

मेरठ के गंगानगर में रहने वाला बीस वर्षीय छात्र आर्यन वहां के आईआईएमटी कॉलेज में बीटैक प्रथम वर्ष की पढ़ाई कर रहा था, जो आगामी परीक्षा के मद्देनजर बुधवार को गढ़ में स्याना रोड पर स्थित वेदांत कॉलेज में अपना प्रोजैक्ट जमा कराने आ रहा था। कॉलेज से थोड़ी दूरी पर ही किसी अज्ञात वाहन ने स्कूटी को अपनी चपेट में ले लिया, जिससे बुरी तरह घायल हुए आर्यन को किसी राहगीर ने लहूलुहान हालत में उपचार के लिए स्थानीय सीएचसी में भर्ती करा दिया। जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई, जिसकी सूचना मिलते ही घर में कोहराम मच गया और रोते बिलखते परिजन एवं सगे संबंधी अस्पताल पर पहुंच गए। दिवंगत छात्र के शव को पुलिस ने पोस्टमार्टम को भेज दिया है। इंस्पेक्टर विनोद पांडेय का कहना है कि मृतक छात्र के परिजनों की तहरीर पर अज्ञात वाहन चालक के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कर उसकी सुरागरसी कराई जाएगी।

-छात्र की मौत के लिए परिजन ऑक्सीजन उपलब्ध न होने की बात कह रहे

सडक़ दुर्घटना में जान गंवाने वाले छात्र आर्यन के मामा मनोज चौधरी निवासी मेरठ का कहना है कि उपचार के दौरान उनके घायल भांजे को सांस लेने में भारी दिक्कत हो रही थी। परंतु इस दौरान सीएचसी में ऑक्सीजन मुहैया नहीं हो पाई, जिसके कारण मौत होने में यह भी एक अहम वजह रही है। सीएचसी अधीक्षक डॉ.दिनेश भारती का कहना है कि सडक़ दुर्घटना में घायल छात्र के सिर में गंभीर चोट लगी होने से उसकी महज कुछ ही मिनट के भीतर मौत हो गई थी। अस्पताल में ऑक्सीजन की सप्लाई समूचित मात्रा में उपलब्ध है, इसलिए ऑक्सीजन मुहैया न होने का आरोप पूरी तरह बेबुनियाद एवं निराधार है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें