ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश हापुड़माघ पूर्णिमा आज, जरा संभलकर निकलें

माघ पूर्णिमा आज, जरा संभलकर निकलें

-डुबकी लगाने को भक्तों की भीड़ गंगानगरी में उमड़ रही गंगानगरी में उमड़ रही -गरीब निराश्रितों को दान देने का विशेष महत्व फोटो नंबर 54 गढ़मुक्तेश्वर,...

माघ पूर्णिमा आज, जरा संभलकर निकलें
हिन्दुस्तान टीम,हापुड़Fri, 23 Feb 2024 11:15 PM
ऐप पर पढ़ें

गढ़मुक्तेश्वर, संवाददाता। माघ पूर्णिमा के उपलक्ष्य में पतित पावनी मोक्ष दायिवी गंगा मैया में आस्था की डुबकी लगाने वाले बाहरी प्रांतों के भक्तों का आवागमन जोरों पर चल रहा है। जिसके कारण ब्रजघाट गंगानगरी की सैकड़ों धर्मशाला, मंदिर और आश्रमों में भक्तों के पड़ाव डालने से हर तरफ चहल पहल और बाजारों में रंगत बढ़ गई है।

माघ पूर्णिमा के पावन अवसर पर आज लठीरा का कच्चा घाट और महाभारत कालीन पुष्पावती पूठ समेत ब्रजघाट गंगान में आस्था की डुबकी लगेगी। जिसके मद्देनजर दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान समेत पश्चिमी उत्तर प्रदेश के दूरस्थ जनपदों से भक्तों का आवागमन शुक्रवार की दोपहर में चालू हो गया था। जिसके कारण ब्रजघाट की सैकड़ों धर्मशाला, आश्रम और मंदिर परिसर फुल होने के साथ ही हर तरफ चहल पहल और बाजारों में रंगत बढ़ गई है। माघ पूर्णिमा पर मोक्ष दायिनी गंगा में डुबकी लगाने का विशेष धार्मिक महत्व माना जाता है, जिसके मद्देनजर लाखों भक्त देर रात से लेकर तडक़े में पड़ रही सर्दी की कोई भी परवाह किए बिना सूर्योदय होने से पहले ब्रह्म मुहूर्त में ही डुबकी लगाने का सिलसिला शुरू कर देंगे।

--गंगा में डुबकी लगाकर गरीब निराश्रित एवं कुष्ठ रोगियों को दान देने का विशेष महत्व

भद्रकाली मंदिर के पुजारी पंडित रमाशंकर तिवारी और प्राचीन पंचायती मंदिर के मुख्य पुजारी पंडित सुरेंद्र प्रसाद शर्मा का कहना है कि माघ पूर्णिमा पर मोक्ष दायिनी में आस्था की डुबकी लगाकर गरीब निराश्रितों समेत कुष्ठ रोगियों को भोजन और वस्त्र दान करने वाले पापों से मुक्त होकर मनोवांछित फल के भागीदार बनते हैं, क्योंकि अभी देर रात में ठिठुरती सर्दी का प्रकोप बना हुआ है।

-कैसे रहेगी पुलिस की व्यवस्था

ब्रजघाट चौकी प्रभारी इंद्रकांत यादव ने बताया कि माघ पूर्णिमा के मद्देनजर तीर्थ नगरी में भक्तों का आवागमन प्रारंभ हो गया है, जिसके चलते नेशनल हाईवे को जाममुक्त रखने समेत भक्तों की सुरक्षा और शांति व्यवस्था के लिए बाहरी थानों की पुलिस बुलाने के साथ ही पूरी तरह चाक चौबंद प्रबंध किए हुए हैं।

-जाम की स्थिति पैदा होने पर कौन से रास्ते से निकलें

दिल्ली लखनऊ नेशनल हाईवे पर जाम जैसी स्थिति उत्पन्न होने की दशा मेंं दिल्ली, गाजियाबाद, हापुड़ की तरफ जाने वाले भक्त ब्रजघाट से पलवाड़ा रोड वाया डेहरा कुटी से गांव वैठ, मेरठ, बागपत, बड़ौत, किठौर क्षेत्र के भक्त गांव अल्लाबख्शपुर के सामने से महमाई रोड होकर, बुलंदशहर, स्याना, औरंगाबाद के भक्त ब्रजघाट से वाया पलवाड़ा रोड होकर जाम से बचकर वापस लौट सकेंगे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें