DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रधानमंत्री की मन की बात सुनकर लक्ष्य निर्धारित किया और प्राप्त की सफलता

प्रधानमंत्री की मन की बात सुनकर लक्ष्य निर्धारित किया और प्राप्त की सफलता

सीबीएसई बोर्ड हाईस्कूल की परीक्षा का मंगलवार को परिणाम घोषित हो गया। जिसमें हापुड़ की मोदीनगर रोड स्थित श्रीमती ब्रह्मादेवी बालिका विद्यालय की छात्रा खुशी अग्रवाल ने 500 अंको में से 497 अंक प्राप्त कर देश की वरियता सूची में तीसरा स्थान प्राप्त कर हापुड़ का नाम रोशन किया। छात्रा के द्वारा प्राप्त किए अंक और विद्यालय एवं नगर के नाम रोशन के बाद हापुड़ में खुशी का महौल बना हुआ है। वहीं छात्रा ने अपनी सफलता से बालिका किसी से कम नहीं है इसको लेकर एक आईना बनी हैं। छात्रा की सफलता से परिजनों में जहां खुशी हैं वहीं छात्रा और उसके परिजनों को बधाई देने वालों का तांता लगा रहा। छात्रा ने प्रधानमंत्री की मन की बात सुनकर लक्ष्य निर्धारित किया और सफलता ने चूम लिए कदम। नगर के मोहल्ला बुर्ज निवासी अधिवक्ता संजय अग्रवाल और सीमा अग्रवाल की बेटी खुशी अग्रवाल जो कि कक्षा 10 में श्रीमती ब्रह्मादेवी बालिका विद्यालय की छात्रा थी। जिनसे कठिन परीश्रम कर अपनी सफलता के झंडे गाढ़ दिए और कक्षा 10 में जनपद में प्रथम और देश में तृतीय स्थान प्राप्त किया। छात्रा ने बताय कि उसकी सफलता का श्रेय उनके गुरुजनों को जाता है। जिन्होंने उनका मागदर्शन किया। वहीं छात्रा खुशी अग्रवाल ने बताया कि कोचिंग से ही सफलता नहीं मिलती। उन्होंने अपने घर पर ही सैल्फ स्टडीज की है। उनकी माता सीमा अग्रवाल ने ही परीक्षा के दौरान तैयारियां कराई। इसके अलावा छात्रा खुशी अग्रवाल ने बताया कि लक्ष्य निर्धारित कर यदि मेहनत की जाए तो सफलता जरुर कदम चूमेगी। उन्होंने बताया कि परीक्षा शुरु होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छात्रों को मन की बात के माध्यम से जो सफलता का मंत्र दिया। उसको अपने मन में उतार उन्होंने लक्ष्य निर्धारण कर कठिन मेहनत की। छात्रा ने बताया कि उन्होंनें परीक्षा समय में मात्र 4 घंटे पढ़ाई की थी। लेकिन परीक्षा से पहले 6 से7 घंटे पढ़ाई में लगाती थी। छात्रा की माता सीमा अग्रवाल ने बताया कि वह अधिवक्ता हैं इसके अलावा छात्रा उन्होंने बेटी को हमेशा पढ़ाई के लिए प्रेरित किया और पहली सीढ़ी जो कि कक्षा दस है उससे पार करते हुए हापुड़ में इतिहास रचा है। जिससे वह गौरांवित हैं। इसे अलावा विद्यालय की प्रधानचार्य अलका गुप्ता ने बताया कि विद्यालय में छात्रा का स्वभाव काफी सरल है और पढ़ने में शुुरु से ही कुशाग्र रही है। छात्रा ने जो सफलता प्राप्त की है। उससे विद्यालय , परिवार और नगर का नाम रोशन हुआ है। वहीं छात्रा ने बताया कि पीसीएम लेकर आईआईटी करना चाहती हैं। ताकि एक कुशल इंजीनियर बनकर देश सेवा करने का मौका मिल सके। वह आगे भी इसी प्रकार से आगे बढ़ती रहे यह उनका प्रयास रहेगा। उन्होंने कहा कि बेटियो को अबला माना जाता है। लेकिन बेटी क्या नहीं कर सकती यह साबित हो गया है। बालिका शिक्षा से ही देश शिक्षा की रोशनी से रोशन होगा। बेटी की सफलता पर दिन भर छात्रा और उसके परिजनों के साथ साथ कालेज प्रबंधन को बधाई देने वालों का तांता लगा रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Listening to the mind of the Prime Minister and setting the goal and achieving success