ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश हापुड़कागजों में चल रहे तीन मेडिकल स्टोर का लाइसेंस निरस्त

कागजों में चल रहे तीन मेडिकल स्टोर का लाइसेंस निरस्त

एक साल से कागजों में चल रहे तीन मेडिकल स्टोरों के लाइसेंस और निरस्त किए गए हैं। औषधि निरीक्षक के निरीक्षण में मौके पर तीनों मेडिकल स्टोर नहीं मिले...

कागजों में चल रहे तीन मेडिकल स्टोर का लाइसेंस निरस्त
हिन्दुस्तान टीम,हापुड़Tue, 28 Nov 2023 11:35 PM
ऐप पर पढ़ें

एक साल से कागजों में चल रहे तीन मेडिकल स्टोरों के लाइसेंस और निरस्त किए गए हैं। औषधि निरीक्षक के निरीक्षण में मौके पर तीनों मेडिकल स्टोर नहीं मिले थे। एक मेडिकल स्टोर की जगह पर डेयरी चलती मिली थी। अब औषधि निरीक्षक की रिपोर्ट पर असिस्टेंट कमिश्नर ड्रग मेरठ मंडल ने लाइसेंस निरस्त किए हैं।

औषधि निरीक्षक उर्मिला अग्रवाल द्वारा नवंबर माह की शुरूआत में जिले में कई स्थानों पर मेडिकल स्टोरों के रुटीन निरीक्षण किए गए थे। इनमें बाबूगढ़ में एक मेडिकल स्टोर के स्थान पर डेयरी चलती मिली थी। जबकि एक मोहल्ला जवाहरगंज में पिछले एक साल से बंद मेडिकल स्टोर का खुलासा हुआ था। अम्बेडकर मूर्ति के पास भी मेडिकल स्टोर बंद मिला था। तीनों मेडिकल स्टोरों के लाइसेंस कागजों में चल रहे थे। जिसके संबंध में औषधि निरीक्षक ने असिस्टेंट कमिश्नर ड्रग मेरठ मेंडल को रिपोर्ट भेजी थी। अब रिपोर्ट के आधार पर असिस्टेंट कमिश्नर ने तीनों मेडिकल स्टोरों के लाइसेंस निरस्त कर दिए हैं।

-अक्टूबर माह में जन औषधि केंद्र का लाइसेंस हुआ था निरस्त

हापुड़। सीएचसी हापुड़ में जन औषधि केंद्र चलता था। यह भी पिछले डेढ़ दो साल से बंद था। जिसका भी लाइसेंस औषधि निरीक्षक द्वारा निरस्त कराया गया था।

-रुटीन निरीक्षण में हुआ खुलासा

हापुड़। मेडिकल स्टोर के लाइसेंस कागजों में चालू होने का खुलासा रूटीन निरीक्षण में हुआ था। अब से पूर्व भी दो मेडिकल स्टोरों के लाइसेंस कागजों में चालू मिले थे।

-औषधि निरीक्षक का कथन

तीन मेडिकल स्टोरों के लाइसेंस कागजों में चल रहे थे। रुटीन निरीक्षण में उक्त जानकारी हुई। जिसके बाद ड्रग असिस्टेंट कमिश्नर को रिपोर्ट बनाकर भेजी गई। अब रिपोर्ट के आधार पर तीनों मेडिकल स्टोरों के लाइसेंस निरस्त हो गए हैं।

-उर्मिला अग्रवाल, औषधि निरीक्षक हापुड़

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें