DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किसानों की समस्या भाजपा सरकार की देन- मदन चौहान

किसानों की समस्या भाजपा सरकार की देन- मदन चौहान

रविवार को शुगर मिल गेट पर गन्ना भुगतान सहित अन्य मांगों को लेकर पूर्व मंत्री के नेतृत्व में हजारों किसानों ने धरना प्रदर्शन किया। उन्होंने भाजपा की केन्द्र तथा प्रदेश सरकार पर जमकर भडास निकालते हुए किसानों की अनदेखी करने का आरोप लगाया। धरना प्रदर्शन को देखते हुए समिति तथा मिल गेट पर पुलिस बल तैनात किया गया। सिम्भावली शुगर मिल द्वारा गन्ना किसानों का भुगतान नहीं करने से नाराज किसानों ने सपा सरकार में मंत्री रहे मदन चौहान के नेतृत्व में रविवार को धरना प्रदर्शन किया। पूर्व मंत्री के आह्वान पर दिन निकलने के साथ ही किसानों का गन्ना समिति में जमावड़ा शुरु हो गया, दोपहर 11 बजे तक हजारों किसान गन्ना समिति के प्रागंण में पहुंच गए। किसानों को सम्बोंधित करते हुए मदन चौहान ने कहा कि चुनाव के समय भाजपा ने प्रदेश में सरकार बनने पर 14 दिनों के अंदर भुगतान कराने का दावा किया था, मगर उनका यह दावा हवाई सिद्ध हो गया। शुगर मिल का पेराई सत्र बंद हुए कई माह हो चुके है, मगर किसानों को अभी तक जनवरी माह का भी भुगतान नहीं मिला है। शुगर मिल पर किसानों का 267 करोड़ रुपये बकाया पड़ा हुआ है, जिस कारण किसानों की हालत दयनीय होती जा रही है। मदन चौहान ने कहा कि भाजपा सरकार ने खाद के वजन को कम कर दिया जबकि दामों में इजाफा कर दिया, जिस कारण किसानों को दोहरी मार झेलनी पड़ रही है। बिजली के बढ़ते दामों से आम आदमी त्रस्त है, लेकिन सरकार किसान, गरीब मजदूरों की तरफ ध्यान नहीं दे रही। उन्होंने केन्द्र तथा प्रदेश सरकार पर जमकर हल्ला बोलते हुए किसान विरोधी बताया। क्षेत्र में बढ़ रहा अपराधमदन चौहान ने कहा कि पिछले तीन माह में क्षेत्र में छह हत्याएं तथा कई लूट की वारदात हुई। मगर पुलिस ने सिर्फ एक हत्या का आधा अधूरा खुलासा किया है। जबकि शेष पीड़ित आज भी न्याय की गुहार लेकर दर बदर की ठोकर खा रहे है। उन्होंने तहसील, ब्लॉकों में बढ़ते भ्रष्ट्राचार को लेकर भी नाराजगी जताई तथा एैसे लोगों के खिलाफ एकजुट होकर विरोध करने का आह्वान किया। इशारों में विधायक पर कसा तंजमदन चौहान ने किसानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि एक नेताजी रोज नई नई योजना लाने का झूठा प्रचार कर क्षेत्र की जनता को गुमराह कर रहे हैं। जबकि धरातल पर एक भी योजना नहीं चल रही है। ट्रामा सेंटर को लेकर भी उन्होंने इशारों इशारों में जनता को सच्चाई का आईना दिखाया। हाईवे पर आ गए किसानइसके बाद अचानक मदन चौहान ने शुगर मिल का घेराव करने की घोषणा कर दी। जिसके बाद हजारों किसान गन्ना समिति से चलकर हाईवे के रास्ते शुगर मिल गेट पर पैदल ही पहुंच गए। रास्ते में किसानों ने केन्द्र तथा प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। शुगर मिल में पहुंचने की सूचना मिलते ही एसडीएम ज्योति राय, सीओ संतोष मिश्रा, इंस्पेक्टर दिनेश यादव पहुंच गए तथा वार्ता शुरू की। भड़के किसानशुगर मिल की तरफ से तीन कर्मचारियों को मौके पर भेज दिया गया। जिसके बाद नाराज किसानों ने अचानक नारेबाजी शुरु कर दी। उन्होने मौके पर सीजीएम को बुलाने की मांग की, जिसके बाद प्रशासन ने सीजीएम को मौके पर बुलाया। सीजीएम ने मदन चौहान तथा किसानों के सामने जल्द भुगतान का आश्वासन दिया। मदन चौहान ने राज्यपाल के नाम एक ज्ञापन एसडीएम तथा सीओ को सौंपा। जिसके बाद धरना समाप्त हुआ। यह लोग रहे मौजूद धरना प्रदर्शन में मुख्य रुप से विधान सभा अध्यक्ष फारुख प्रधान, हबीब सरवर, नरेश, गब्बर चेयरमैन, मुकूट यादव, सरदार कुंवर सिंह, रुपेश पंडित, आशीष, रणधीर प्रधान, मंसूर प्रधान, अख्तर मलिक, शिवकुमार त्यागी आदि हजारों लोग मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: kisaanon kee samasya bhaajapa sarakaar kee den : madan chauhaan BJP government's problem of farmers: Madan Chauhan