ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश हापुड़ गढ़ हादसा: जिले के 24 ब्लैक स्पॉट ने छीन ली 101 लोगों की जान

गढ़ हादसा: जिले के 24 ब्लैक स्पॉट ने छीन ली 101 लोगों की जान

हापुड़ में वर्ष-2022-23 में 12 ब्लैक स्पॉट की पहचान की गई। जबकि वर्ष-2023-24 में ब्लैक स्पॉट की संख्या बढ़कर 24 हो गई। इन ब्लैक स्पॉट पर एक जनवरी-2023...


गढ़ हादसा: जिले के 24 ब्लैक स्पॉट ने छीन ली 101 लोगों की जान
हिन्दुस्तान टीम,हापुड़Wed, 15 May 2024 12:00 AM
ऐप पर पढ़ें

हापुड़, जनपद हापुड़ में वर्ष-2022-23 में 12 ब्लैक स्पॉट की पहचान की गई। जबकि वर्ष-2023-24 में ब्लैक स्पॉट की संख्या बढ़कर 24 हो गई। इन ब्लैक स्पॉट पर एक जनवरी-2023 में 222 दुर्घटनाएं हुई थी। इसमें 152 लोगो घायल हो गए थे, जबकि 115 लोग काल के मुंह में समां गए थे। लेकिन इसके बाद भी सिर्फ कागजों में ही ब्लैक स्पॉट का सुधार हुआ। इसलिए वर्ष-2024 के पहले तीन महीनों में 101 लोगों की जिदंगी खत्म हो चुकी है, लेकिन जिम्मेदारों के पास इसका कोई जवाब नहीं है।

जिले में साल 2023-24 में 24 ब्लैक स्पॉट को चिन्हित किया गया था। इसमें आधे से ज्यादा ब्लैक स्पॉट एनएच-09 पर स्थित है, जो छिजारसी टोल प्लाजा से लेकर ब्रजघाट तक स्थित है। वाहन चालक हाईवे की सड़कों पर प्रति घंटा सौ से ज्यादा स्पीड से वाहनों को सरपट दौड़ाते है। लेकिन एनएच-09 के ब्लैक स्पॉट के आसपास न तो स्पीड लिमिट के साइन बोर्ड लगे है और न ही ओवरस्पीड को चेक करने का कोई संसाधन है। इतना ही नहीं, कई जगह हाईवे पर लाइट भी खराब है, जिस कारण रात के समय हाईवे पर अंधेरा छाया रहता है।

इसी का नतीजा है कि पिछले तीन महीनों में 24 ब्लैक स्पॉट पर हादसे होने से 101 लोगों की जिदंगी खत्म हो चुकी है। इसमें सबसे ज्यादा दुर्घटनाएं तेजगति से वाहन चलाने पर हुई है। इसके अलावा 60 फीसदी दुघटनाएं शाम 6 बजे से रात 12 बजे तक हुई है। सोमवार को भी जिले में एनएच-09 स्थित अल्लहाबख्शपुर ब्लैक स्पॉट पर रात करीब 12 बजे कार और ट्रक की टक्कर में छह युवकों की जान चली गई। इस खबर से पूरा जनपद सहम उठा।

------------------------------------

यह है एनएच-09 और पीडब्लूडी की सड़कों पर ब्लैक स्पॉट:

छिजारसी टोल प्लाजा, मारवाड़ कॉलेज पिलखुवा, सरस्वती मेडिकल कॉलिज के सामने, निजामपुर चौराहा, सबली गेट, ततारपुर चौराहा, उपैड़ा, सिखैड़ा, खुड़लिया सिंभावली शुगर मिल के सामने, अठसैनी, अल्हाबख्शपुर, ब्रजघाट, मेरठ फ्लाइओवर, बदनौली चौराहा, कंदौला गेट धौलाना, बाबूगढ़ थाना से सिंभावली कट, कुचेसर फ्लाइओवर, में ब्लैक स्पॉट चिन्हित है। जहां एनएच के अफसरों द्वारा कोई कदम नहीं उठाया गया।

---------------------------------------

छह मौत पर बिफरी डीएम, अफसरों की लगाई क्लास:

डीएम प्रेरणा शर्मा ने गढ़मुक्तेश्वर के अल्हाबख्शपुर में सड़क दुर्घटना में छह युवकों की मौत के बाद सड़क सुरक्षा समिति की बैठक की। उन्होंने एनएच और पीडब्लूडी के अफसरों की क्लास लगाते हुए ब्लैक स्पॉट को खत्म करने के सख्त निर्देश दिए। उन्होंने एनएच-09 पर ओवर स्पीड की गति चेक करने के लिए साइन एज, स्पीड कैमरा लगाने, ओवर स्पीड को रोकने को टोल तथा अन्य स्थान पर चेकिंग करने के निर्देश दिए। साथ ही आगामी मीटिंग से पहले हर हाल में स्पीड कैमरे लगाने की चेतावनी दी है।

---------------------------------------

जिले के इन ब्लैक स्पॉट पर तीन साल में गई सबसे ज्यादा जान:

ब्लैक स्पॉट हादसे घायल मौत

अल्हाबख्शपुर 14 11 18

ततारपुर गोल चक्कर 18 14 14

बाबूगढ़ थाना से सिमरौला 20 10 13

कुचेसर चौपला फ्लाईओवर 18 08 20

छिजारसी टोल प्लाजा 16 11 09

ब्रजघाट 13 08 10

------------------------------------------------

बोले जिम्मेदार:

अभी एनएच-09 पर निर्माण कार्य पूरी नहीं हो पाया है, जिस कारण पूरी तरह ब्लैक स्पॉट को खत्म नहीं किया गया है। नेशनल हाईवे की कार्यदायी संस्था को अभी स्पीड कैमरे लगाने है, इसके अलावा भी कुछ कार्य बाकी है। इन कार्यो के खत्म होने के बाद दुर्घटनाओं पर लगाम लग जाएगी।

अनुज कुमार जैन, पीडी एनएचएआई, मुरादाबाद

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।