DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली पुलिस दरोगा हत्याकांड का खुलासा कर रही टीमों की र्विकंग चौकी पर जाकर खत्म

दिल्ली पुलिस दरोगा हत्याकांड का खुलासा कर रही टीमों की र्विकंग चौकी पर जाकर खत्म

24 मई को दिनदहाड़े हुई दिल्ली पुलिस के दरोगा की लूट के विरोध में तीन बदमाशों द्वारा गोली मारकर की गई हत्या का खुलासा हापुड़ पुलिस की टीमें अभी तक नहीं कर पाई है। सुबह से शाम तक हत्यारों की सुरागकशी का फाइनल टच प्रतिदिन दिन रात को दस बजे मोदीनगर रोड स्थित पुलिस चौकी पर जाकर कर दिया जाता है। वहीं हत्याकांड के खुलासे को लेकर भाकियू आज सिंभावली में किसानों की पंचायत करने जा रहा है।तीन शाति बदमाशों द्वारा नंगौला पुलिस चौकी क्षेत्र में आतंक मचा रखा था जिनका लूटपाट का किस्सा खाकी वाले की हत्या तक जा पहुंचा है। लेकिन 6 दिन बीतने के बाद भी पुलिस दरोगा की हत्या में शामिल रहे हत्यारों तक नहीं पहुंच पाई है। कप्तान ने खुलासे के लिए जिले के तेज तर्रार पुलिस ऑफिसर लगा रखे हैं। लेकिन दिन दहाड़े हुई लूटपाट के विरोध में हत्या में पुलिस का नेटवर्क फेल साबित हो रहा है। जिसमें बदमाशों ने न तो इंटरनेट पर और न ही देहात की मुखबिरी में अपने को आने दिया है। तीन हत्यारों को तलाश करने में पुलिस की सर्विलांस तथा जनता की नेटवर्किंग फेल साबित हो रही है। क्योंकि खुलासे के लिए लगी टीमें अभी तक यह जानकारी हासिल नहीं कर पाई है कि घटना को अंजाम देने के बाद बदमाश मोदीनगर रोड पर किस दिशा की तरफ को दौड़े है।हत्या से दो घंटे पहले की थी लूट।़--ग्रामीणों की माने तो तीन काली स्पलेंडर सवार तीन बदमाशों ने 24 मई को सवा दो बजे नंगौला को जा रहे कच्चे रास्ते पर लूट करते हुए विरोध पर दिल्ली पुलिस के दरोगा की हत्या कर दी थी। जबकि हत्याकांड से दो घंटे पहले भी पास के गांव बड़ौदा के पास रजवाहे पर भी एक ठेली वाले से 15 सौ रुपये की लूट की थी। बताया गया है कि लाला नामक युवक एक ठेली पर सब्जी बेचकर जा रहा था। तीनों बदमाशों ने गन प्वाइंट पर लेकर सब्जी वाले से 15 सौ रुपये की नगदी लूटी थी। जिसके लते आज कुछ ग्रामीणों ने बड़ौदा में जाकर जानकारी भी की। जिसमें पीड़ित तो नहीं मिला जबकि उसके पडौ़सियों ने लूट की घटना की जानकारी दी है। जहां ग्रामीण स्वयं सुरागकशी में जुट गए है वहीं पुलिस ने अभी तक अपने बेस पर एक भी पुरानी लूटपाट की घटनाओं से जुड़े वादियों को नहीं तलाश किया है।दिनभर की दौड़ और रात को चौकी पर खत्म--ग्रामीणों की माने तो पुलिस की टीम रात को 9 से 10 बजे के बीच नंगौला पुलिस चौकी पर पहुंचकर अपनी पूरे दिन की बदमाशों की सुरागकशी की कार्यवाही को समाप्त कर देती है। जिसमें चौकी पर बैठने के बाद फिर से वहीं काम चालू हो जाता है। पुलिस द्वारा पकड़े गए संदिग्धों को रात के अंधेरे में ही पुलिस चौकी पर पीड़ित महिलाओं को बुलाकर शिनाख्त का प्रयास कराया गया है। लेकिन अभी तक कोई पुख्ता सबूत पुलिस के हाथ नहीं लग पाया है।एसपी संकल्प शर्मा का कहना है कि ब्लाइंड मर्डर में हत्यारों की तलाश में पुलिस की टीमें जुटी हुई है। पुलिस सही कातिलों की सुरागकशी में जुटी हुई है जिसमें एक-दो संदिग्धों को लेकर पूछताछ की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Delhi police concludes by going to the working post of the teams disclosing Dodga assassination