ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश हापुड़वन में पेड़ काट कर दे रहे प्रदूषण को बढ़ावा

वन में पेड़ काट कर दे रहे प्रदूषण को बढ़ावा

गिरते भूगर्भीय जल स्तर व प्रदूषण पर रोक लगाने के लिए हर साल लाखों पेड़ लगाये जाते है जो नजर नहीं आते है। सिस्टम की अनदेखी के चलते मस्त राम की कुटी...

वन में पेड़ काट कर दे रहे प्रदूषण को बढ़ावा
हिन्दुस्तान टीम,हापुड़Wed, 15 May 2024 12:05 AM
ऐप पर पढ़ें

गिरते भूगर्भीय जल स्तर व प्रदूषण पर रोक लगाने के लिए हर साल लाखों पेड़ लगाये जाते है जो नजर नहीं आते है। सिस्टम की अनदेखी के चलते मस्त राम की कुटी के सामने वन में पेड़ काटकर लोग अवैध रुप से खेत बना रहे है। जहां एक ओर मिटटी व रेत ख्ननन कर अवैध कार्य करने वाले बाज नहीं आ रहे है। वही पेड़ काटकर सरकार के पौधारोपण अभियान को ठेंगा दिखा कर मस्त है। गंगा किनारे के तराई क्षेत्र में वन विभाग की हजारों हेक्टेयर सरकारी भूमि है। साकारी भूमि में दबंगों के अवैध कब्जे है। वन विभाग के वनों में अवैध रुप से कटान कर ध्वस्त किये जा रहे है। मस्त राम की कुटी के सामने घने वन में अवैध रुप से पेड़ काटकर ले जा रहे है इतना ही नहीं पेड़ काटने के बाद वन विभाग की जमीन पर भी अवैध कब्जे कर मजे में है। जिससे वन विभाग की सम्पदा को भारी नुकसान है। मस्तराम की कुटी के सामने घना वन है। जिसमें अक्सर अंधेरा रहता था तो नीलगाय सहित जानवर विचरण करते थे।

वन विभाग की जमीन पर कब्जे---

वन विभाग की क्षेत्र में हजारों बीघे सरकारी जमीन है जिसपर अवैध कब्जेदारों की नजर रहती है। नव विभाग की अनदेखी के चलते हजारों बीघे जमीन पर अवैध कब्जे है। राजीव ने बताया कि वन में भी जमीन पर कब्जे कर किसानों ने अपनी जमीन बढ़ाकर मजे में है।

विधायक ने अवैध कब्जे पर जताई नाराजगी---

विधायक हरेन्द्र सिंह तेवतिया ने वन में मिटटी व रेत के अवैध खदान पर नाराजगी करते हुए वन क्षेत्राधिकारी को लगातार निगरानी रखने के लिए कहा तो वन विभाग में हलचल हो गई।

क्या कहते है अधिकारी---

मस्त राम कुटी के सामने वन में पेड़ कटान व मिटटी खदान पर रोक लगाने के लिए कर्मचारी निगरानी कर रहे है। करन सिंह वन क्षेत्राधिकारी गढ़मुक्तेश्वर

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।