ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश हापुड़गर्मी से बुरा हाल, 18 मरीज जिला अस्पताल में भर्ती

गर्मी से बुरा हाल, 18 मरीज जिला अस्पताल में भर्ती

-उल्टी दस्त, बुखार के मरीज अस्पताल में भर्ती किए जा रहेहे -ओपीडी में नजला, जुकाम और बुखार के मरीजों की भरमार -चिकित्सक लोगों को गर्मी से बचाव के...

गर्मी से बुरा हाल, 18 मरीज जिला अस्पताल में भर्ती
हिन्दुस्तान टीम,हापुड़Mon, 27 May 2024 11:40 PM
ऐप पर पढ़ें

गर्मी ने लोगों की सेहत को बिगाड़ दिया है। सोमवार को जिलेभर के अस्पतालों की ओपीडी में मरीजों की भरमार रही। नजला, जुकाम, बुखार के मरीजों की कतारें लग गई। वहीं, जिला अस्पताल हापुड़ में 18 उल्टी दस्त और बुखार के मरीज भर्ती किए गए। चिकित्सकों ने लोगों को गर्मी से बचाव संबंधित टिप्स दिए हैं।

गर्मी बढ़ती जा रही है। जिस कारण लोगों की सेहत पर बुरा असर पड़ रहा है। गर्मी ने मरीज बढ़ा दिए हैं। लोग नजला, जुकाम, बुखार, उल्टी दस्त की चपेट में आ रहे हैं। सोमवार को एक दिन की छुट्टी के बाद जिलेभर के सरकारी अस्पताल खुले। इस दौरान अस्पतालों में मरीजों की कतारें लग गई। कतार में लगने के बाद मरीजों को उपचार मिला। गढ़ रोड स्थित सीएचसी हापुड़ की ओपीडी में 1647 मरीजों को उपचार मिला। वहीं, जिला अस्पताल हापुड़ की ओपीडी में 716 मरीज पहुंचे। यहां अस्पताल में उल्टी दस्त और बुखार के 18 मरीज भर्ती हैं। सीएमएस डॉ प्रदीप मित्तल ने बताया कि अस्पताल में भर्ती मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मिल रही हैं। ओपीडी में आने वाले सभी मरीजों को उपचार मिल रहा है। नि:शुल्क दवाईयां दी जा रही हैं।

-बिजली कटौती में मरीजों का बुरा हाल

हापुड़। अस्पताल में भर्ती मरीजों को बिजली कटौती के कारण परेशानी झेलनी पड़ती हैं। बिजली गुल होने पर पंखे कूलर बंद हो जाते हैं। जिस कारण मरीजों के पसीने छूट जाते हैं।

--गर्मी से बचाव के टिप्स

-शरीर में पानी की कमी नहीं होने दें, समय समय पर पानी पीतें रहें।

-दोपहर 12 बजे से शाम चार बजे तक घर से बाहर निकलने से बचें।

-बाजार के फॉस्ट फूड आदि का कम सेवन करें।

-खुले में कार्य करते समय चेहरा, हाथ, पैरों को गीले कपड़े से ढकें

-धूप में घर से बाहर निकलते समय चश्में पहनें।

-पेट में मरोड़, घमोरिया, शरीर में कमजोरी आने पर तुरंत सतर्क हो जाएं

-चक्कर आना, सिर में तेज दर्द, उबकाई आना जैसे लक्षण सामने आएं तो तुरंत चिकित्सकों से संपर्क करें।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।