ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश हापुड़एड्स की बीमारी से जागरूकता में बचाव

एड्स की बीमारी से जागरूकता में बचाव

जागरूकता से ही एड्स की बीमारी से बचाव संभव है। इसलिए हमें सचेत रहना है। यहं हापुड़ के एचआईवी मरीजों का मेरठ एआरटी सेंटर से इलाज चल रहा है। दवा लेने...

एड्स की बीमारी से जागरूकता में बचाव
हिन्दुस्तान टीम,हापुड़Thu, 30 Nov 2023 11:30 PM
ऐप पर पढ़ें

जागरूकता से ही एड्स की बीमारी से बचाव संभव है। इसलिए हमें सचेत रहना है। यहं हापुड़ के एचआईवी मरीजों का मेरठ एआरटी सेंटर से इलाज चल रहा है। दवा लेने से एचआईवी मरीजों की उम्र बढ़ रही है। मरीजों की काउंसलिंग की सुविधा जिला अस्पताल में उपलब्ध है।

आज विश्व एड्स दिवस है। लोगों को एचआईवी संक्रमण के प्रति जागरूक करने के लिए उक्त दिवस मनाया जाता है। एड्स की बीमारी से जागरूकता से ही बचाव किया जाता है। यहां जिले में एचआईवी के मरीजों को मेरठ उपचार के लिए भेजा जाता है। मेरठ एआरटी सेंटर से एड्स रोगियों का उपचार चलता है। नियमित रुप से दवाईयों के सेवन से मरीजों की उम्र बढ़ रही है। उन्हें चिकित्सकों के परामर्श के अनुसार दवाईयों का सेवन करना है। एचआईवी के मरीजों की जिला अस्पताल में काउंसलिंग होती है। काउंसलिंग में मरीजों का मनोबल बढ़ाया जाता है और उन्हें नि:शुल्क परामर्श उपलब्ध कराया जाता है।

-एड्स बीमारी से बचाव करें

एड्स का एक ही उपाय है बचाव। इसमें सुरक्षित यौन संबंध शामिल है। बचाव के तरीके सीखकर और जागरूक होने के साथ दूसरों को जागरूक कर इससे निपट सकते हैं। जिला अस्पताल में मरीजों की काउंसलिंग की जाती है। उनका मनोबल बढ़ाया जाता है।

-डॉ प्रदीप मित्तल, सीएमएस जिला अस्पताल हापुड़

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें