DA Image
26 सितम्बर, 2020|8:11|IST

अगली स्टोरी

माहे रमजान के पहले जुम्मे को अकीदत मंदों ने की नमाज अदा

default image

माह ए रमजान का शुक्रवार को पहला जुमा होने के चलते अकीदत मंदों ने अपने घर पर ही जुमे की नमाज अदा की। नमाजियों ने अल्लाह से मुल्क में अमन-चैन और कोरोना का खात्मा करने की दुआ मांगी। साल के 12 माह में रमजान माह को पाक माना गया है।

यह माह अल्लाह की बरकत और इबादत का महीना है। रोजा रखकर जो जुमे की नमाज में अल्लाह की इबादत के साथ जो दुआ मांगी जाती है उसे अल्लाह कबूल करते हैं। माह ए रमजान का शुक्रवार को पहला जुमा रहा जिसमें अकीदतमंदों ने रोजा रख अल्लाह से मुल्क में अमन-चैन और शांति बनाए रखने की दुआ की। कोरोना वायरस को लेकर किए गए लॉक डाउन का मुस्लिम समुदायों के लोगों ने पालन किया। घरों में रहकर ही जुमे की नमाज अदा की वहीं मस्जिदों में 5 से कम संख्या नहीं नमाजियों ने नमाज पढ़ी ।इसके अलावा पुलिस प्रशासन पूरी तरह से सतर्क रहा कि कहीं किसी प्रकार की कोई व्यवस्था न बिगड़ जाए । जुमे पर लॉक डाउन का पूरा ध्यान रखा गया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Akeedat mandas offered prayers on the first occasion of Mahe Ramadan