DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  हापुड़  ›  16 लाख खर्च: 15 किमी लंबा नाला फिर नहीं हुआ साफ
हापुड़

16 लाख खर्च: 15 किमी लंबा नाला फिर नहीं हुआ साफ

हिन्दुस्तान टीम,हापुड़Published By: Newswrap
Sun, 13 Jun 2021 03:41 AM
16 लाख खर्च: 15 किमी लंबा नाला फिर नहीं हुआ साफ

15 गांवों के किसानों की जमीन के लिए 15 किलोमीटर लंबा नाला अभिषाप बन रहा हैं। नाले की सफाई न होने के कारण खेतों में जल प्लावन की स्थिति फसल चौपट कर देती है। किसानों को नुकसान देने वाला नाला सिंचाई विभाग के लिए आपदा में अवसर बन जाता है। 16 लाख रुपये खर्च होने के बाद नाले की घास तक नहीं हटी है।

नालों की सफाई के नाम पर सिंचाई विभाग कई नहर और नालों के लिए जिले में हर साल लाखों रुपये खर्च कर रहा है। नीम नदी भले ही कागजों में न हो परंतु वहां पर रजवाहे की तरह चल रहे नाले की सफाई के नाम पर भी हर साल पैसा सिंचाई विभाग खर्च कर रहे हैं।

इसके अलावा नहर तथा खादर में 15 किमी लंबे नाले की सफाई के लिए लाखों रुपये हर साल खर्च होते है। परंतु धरातल पर कोई काम नहीं होकर केवल कागजों में सफाई और पैसा खर्च दिखा दिया जाता है।

किसानों ने खोला घोटाला---

इस बार नाले की सफाई का सच किसानों ने ही खोल दिया है। क्योंकि मेरठ सिंचाई विभाग से पहुंचे एसडीओ सिंचाई ने बताया कि नाले की सफाई के लिए 18 लाख रुपये का स्टीमेट था।

जो सफाई के लिए ठेकेदार को टेंडर छोडा गया था। परंतु इस बार ग्रामीणों ने सांसद बसपा से सिकायत कर एसडीओ को मौरके पर बुला लिया। कई गांवों के किसान एकत्र हो गए जबकि सांसद प्रतिनिध राहत भी मौके पर जा पहुंचा। एसडीओ को नाले की हालत दिखाई गई तो मामला खुल कर सामने आ गया। जिसमें एसडीओ ने किसानों के सामने खुद स्वीकार किया वास्तव में नाला साफ नहीं किया गया है।

हजारों बीघा जंगल जलमग्न--

एक तरफ लोग प्राकृतिक झील पर कब्जा कर रहे हैं दूसरी तरफ नाले की सफाई के नाम पर लाखों रुपये डकारे जा रहे हैं। किसानों का आरोप है कि खेती तबाह हो रही हैं, और लाखों रुपये सफाई के नाम पर डकारे जा रहे है।

ये गांव प्रभावित---

नयाबास, अब्दुल्लापुर, साकरपुर, रामपुर न्यामतपुर, भगवन्तपुर, झड़ीना, शाहपुर , कुतुबपुर, प्रसादीपुर, जमालपुर, गड़ावली, नयागांव, चकलठीरा , नयागांव आदि।

बोले जिम्मेदार---

एसडीएम रामकुमार का कहना है कि किसानों के आरोप के विषय में जेई तथा ठेकेदार से बादत की जाएगी। जहां जहां पर काम नहीं किया गया वहां काम कराया जाएगा।

संबंधित खबरें