अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चोरी की एफआईआर दर्ज न होने पर महिलाओं का अनशन

चोरी की एफआईआर दर्ज न होने पर महिलाओं का अनशन

मौदहा कोतवाली क्षेत्र के टिकरी गावं में ढाई माह पूर्व लाखों रुपए की चोरी के मामले में अभी तक स्थानीय कोतवाली पुलिस ने कोई कारगर कार्रवाई नहीं की। जिससे आक्रोशित गृहस्वामिनी ने बुधवार से पुलिस की मनमानी के खिलाफ तहसील परिसर में आमरण अनशन शुरू कर दिया है। आमरण अनशन में परिवार की सोमवती व साधना सिंह भी बैठ गई है।

टिकरी गांव में 20 जून को जब तेजप्रताप सिंह परिहार के परिवार के लोग तिलक लेकर बाहर गए हुए थे, तभी घर सूना देख यहां चोर घुस गए थे। चोरों ने घर से नकदी व जेवर सहित लाखों के माल पर हाथ साफ कर दिया था। इस संबंध में गृहस्वामी ने पुलिस को सूचना दर्ज कराते हुए कहा था कि इस चोरी में गांव का विनय उर्फ बांके व गुसियारी गांव के अल्लन ने दो अन्य लोगों के साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया है। वहीं बहन सोमवती का सामान व उसका भी सोने चांदी का जेवर तथा भतीजी साधना का भी लाखों रुपए का जेवर उठा ले गए। नामजद होने के बावजूद आरोपियों पर कोई कार्रवाई पुलिस ने नहीं की। पुलिस की कार्रवाई न करने पर आक्रोशित महिला सोमवती व साधना सिंह आज तहसील परिसर में आमरण अनशन में बैठ गई। उनका कहना है कि चोरी के आरोपी नहीं पकडे़ जाते तब तक वह आमरण अनशन जारी रखेगी। भले ही इससे उनकी मौत हो जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Women s hunger strike if FIR is not registered