DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अध्यापक पति से परेशान महिला की गुहार

पूर्व माध्यमिक विद्यालय में सहायक अध्यापक के पद पर कार्यरत पति की हरकतों से तंग आकर महिला ने डीएम को प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई। पत्नी का आरोप है कि पति घर खर्चे को पैसा नहीं देती। बेटी शायद लायक है और उसे किसी बात की फिक्र नहीं। एबीएसए ने इस मामले को निपटाने की कोशिश की, लेकिन अध्यापक इसके लिए राजी नहीं है। बिवांर के केशरपुरा मोहल्ला की शिवदेवी ने बताया कि उसका पति रामसजीवन प्रजापति बांधुर बुजुर्ग के पूर्व माध्यमिक विद्यालय में सहायक अध्यापक के पद पर तैनात है। पति ने काफी समय तक उसका उत्पीड़न किया। उसके चार बच्चे हैं। पुत्री शादी के लायक हो गई है। लेकिन पति परिवार के भरण-पोषण के नाम पर कुछ भी नहीं देता है। उत्पीड़न से तंग आकर पत्नी ने पिछले दिनों डीएम को प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई थी। जिसके बाद एबीएसए मुस्करा राजकुमार विश्वकर्मा दंपति के बीच समझौता कराने को 31 मई को राजेंद्र राजपूत के आवास भी पहुंचे। समझाने के बावजूद राजेंद्र राजपूत खर्चा देने को तैयार नहीं है। जिस पर एबीएसए ने एक सप्ताह बाद उसके पति को अपने कार्यालय में आने का आदेश दिया है। महिला ने भरण-पोषण के साथ ही पति से पुत्री की शादी के लिए पैसा दिलाए जाने की गुहार लगाई है। महिला का कहना है कि समस्या का समाधान नहीं होता है तो वो अपने बच्चों के साथ भूख हड़ताल पर बैठने को मजबूर हो जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Woman Disrupted by Teacher Teacher