अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धूमधाम से शुरू हुआ सुमेरपुर का ऐतिहासिक तीजा महोत्सव

धूमधाम से शुरू हुआ सुमेरपुर का ऐतिहासिक तीजा महोत्सव

भरुआ सुमेरपुर कस्बे के ऐतिहासिक तीजा महोत्सव में बुधवार को विशाल शोभायात्रा के साथ शुभारंभ हुआ। शोभायात्रा में दो दर्जन से ज्यादा नयनाभिराम झांकियां शामिल की गई थी। मंत्रोच्चारण के साथ चांद थोक के राधा-कृष्ण मंदिर से शुरू हुई शोभायात्रा कस्बे में भ्रमण के बाद छोटी बाजार में जाकर समाप्त हुई। यहां पर नागनाथ लीला के साथ कंसबध लीला का मोहक मंचन किया गया। शोभायात्रा की झांकियों में सतयुग से लेकर त्रेता-द्वापर एवं कलियुग की छटा दिखी। ब्रम्हा, विष्णु, महेश से लेकर श्रीराम, कृष्ण के साथ देश भक्ति की झांकियों को समाहित किया गया था। शोभायात्रा का जगह-जगह पुष्प वर्षा के साथ स्वागत किया गया। शोभायात्रा देखने के लिए कस्बे के सभी प्रमुख मार्गों में विशाल जन समुदाय उमड़ा। शोभायात्रा के साथ तीजा मेले का आगाज हो गया।

तीन दिन तक चलने वाले इस महोत्सव में पहले दिन शोभायात्रा देखने के लिए लाखों की भीड़ उमड़ी। शोभायात्रा में भगवान श्रीकृष्ण का विमान सबसे आगे चल रहा था। इसके बाद मत्स्यावतार, ब्रम्ह दरबार, कृष्ण लीला, श्रीकृष्ण द्वारा अर्जुन को गीता का संदेश देना, लवकुश द्वारा अश्व पकड़ना, राधा-कृष्ण का सखियों संग रास रचाना, मीन भेदना, मां दुर्गा की झांकी, राधा-कृष्ण की नयनाभिराम झांकी, मां भगवती की झांकी, शहीदों की झांकी, कारगिल युद्ध, शिव-पार्वती आट्टाहस करता दशानन, बलराम, नंदी पर सवार शंकर, ऐरावत पर सवार इंद्र, रामलखन जानकी दरबार, मरीच बध, भैंसे पर सवार यमराज, यशोदा कृष्ण की माखन चोरी लीला, राधा कृष्ण दरबार, कंस की झाकियां प्रमुख रूप से शामिल थी। शोभायात्रा के आगे चल रही बहुरुपिया पार्टी लोगों के बीच आकर्षण का केंद्र थी।

परंपरा के अनुसार थाने के सामने थानाध्यक्ष सुनील कुमार शुक्ला ने भगवान श्रीकृष्ण की झांकी की आरती उतारकर पूजन किया। कृष्ण वेश में झांकी पर मौजूद बालक का मुंह मीठा कराकर शोभायात्रा को आगे बढ़ाया। शोभायात्रा में एसडीएम सदर अजीत परेश, सीओ सदर रजनीश उपाध्याय, सीओ मौदहा ओमकार यादव, थानाध्यक्ष सुनील शुक्ला, कुरारा थानाध्यक्ष महेंद्र कुमार वर्मा आदि अधिकारी शामिल रहे। शोभायात्रा को संपन्न कराने में तीजा मेला कमेटी के अध्यक्ष, अतुल द्विवेदी, नवल दाऊ, कुंजबिहारी पांडेय, सुरेश यादव, सत्येंद्र गुप्ता, श्यामबाबू पांडेय, सुधीर मिश्रा, ब्रजलाल सिंह, इस्लाम खान, डॉ.आलोक पालीवाल, बब्बू दीक्षित, जावेद खान, बच्चन मिश्रा, बब्बू बाजपेयी, अंकुर बाजपेयी, गप्पू भाई, रज्जन चौरसिया का सराहनीय योगदान रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: The historic Teena Festival of Sumerpur started with pomp