DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

समझौते से दो मामलों का निस्तारण

समझौते से दो मामलों का निस्तारण

महिला थाना में रविवार को परिवार परामर्श केंद्र के अंतर्गत लगी आपसी सुलह-समझौता की पंचायत में दो मामलों का निस्तारण हो गया। लंबे समय से अलग-अलग रह दंपति एक हो गए। एक मामले का निस्तारण नहीं हो सका है।

मौदहा कोतवाली के छिमौली गांव निवासी कौशल्या की शादी एक साल पूर्व बांदा के केवटरा निवासी संजय निषाद के साथ हुई थी। शादी के पांच माह तक कौशल्या ससुराल में रही और उसके बाद दहेज की मांग को लेकर उसे प्रताड़ित किए जाने लगा। जिसके चलते कौशल्या अपने मायके में आकर रहने लगी थी। मां ज्ञानवती का आरोप था कि कौशल्या के जेठ ने उसके जेवर छीन लिए। एसपी बांदा को भी तहरीर दी गई थी। काफी समय से दोनों पक्षों में चल रही तनातनी के चलते मामला परिवार परामर्श केंद्र पहुंच गया था। आज दोनों पक्षों को यहां तलब किया गया था। जिसके बाद दोनों पक्षों के बीच आपसी समझौता हो गया। दंपति पुराने गिले-शिकवे भुलाकर एक हो गए।

इसी तरह थाना सुमेरपुर के गुरगुज मोहल्ला निवासी रीता की शादी फर्रुखाबाद निवासी रजत गुप्ता के साथ 21 अप्रैल 2014 को हुई थी। इधर, कुछ समय से रीता भी ससुरालियों के उत्पीड़न का शिकार थी। उसने भी सुलह-समझौता केंद्र से गुहार लगाई थी। आज इस दंपति के भी मामले का निस्तारण करते हुए दोनों साथ रहने को राजी हो गए। तीसरा मामला कमला पत्नी लल्लू निवासी सिसोलर की शादी मौदहा कोतवाली के मकरांव गांव में हुई थी। कमला भी अपने ससुरालियों से परेशान है। इसके मामले का निस्तारण नहीं हो सका।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Settlement of two cases with agreement