Monsoon rains rain crisis - समलैंगिक जोड़े पर तानों की बारिश, पनाह का संकट DA Image
14 दिसंबर, 2019|9:53|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

समलैंगिक जोड़े पर तानों की बारिश, पनाह का संकट

समलैंगिक जोड़े पर तानों की बारिश, पनाह का संकट

सामाजिक मान-मर्यादा को ताक पर रख दो युवतियों ने समलैंगिक विवाह जैसा कदम उठाया।

अब दोनों को कहीं भी सर छिपाने की जगह नहीं मिल रही है। अपनी दोस्त को लेकर घर पहुंची अभिलाषा परिजनों के ताने सुनने को मजबूर है। उसके परिजन भी समाज व लोकलाज के भय से बेहद चिंतित नजर आ रहे हैं। दूसरी तरफ दोनों युवतियां साथ ही रहने की बात पर अड़ी है। रिश्ते को कानूनी मान्यता दिलाने के लिए लड़ाई भी लड़ेंगी।

नगर के पठानपुरा मुहल्ले में रहने वाली 22 वर्षीय अभिलाषा अनुरागी की ननिहाल मुस्करा थाने के कंधौली गांव में है। जहां आने-जाने के दौरान उसकी दोस्ती हमउम्र दीपशिखा के साथ हुई। दोनों के बीच कब प्रेम पनपने लगा इसका इन दोनों को भी एहसास नहीं हुआ। सन् 2015 में जब अभिलाषा के परिजनों ने उसका विवाह जालौन जनपद में तय किया तब वह तड़प उठी। काफी विरोध के बावजूद परिजनों ने उसका विवाह कर दिया। ससुराल में मात्र एक वर्ष रहने के बाद अभिलाषा ने तलाक ले लिया। बीते वर्ष दीपशिखा का भी विवाह कर दिया गया था। लेकिन वह भी अपने पति से अलग होकर दो माह से मायके में रह रही थी। आखिर दोनों युवतियों ने कानूनी रूप से विवाह करने की ठानी तथा शुक्रवार को जा पहुंची जनपद मुख्यालय स्थित रजिस्ट्रार कार्यालय। जहां दोनों ने शादी रजिस्टर करने के लिये प्रार्थना पत्र दिया। जो स्वीकार नहीं किया गया।

ससुराल न जाने की जिद पर उठाया यह कदम

अभिलाषा बताती है कि दीपशिखा के घर वाले उसे जबरन ससुराल भेजने की जिद पर अड़े थे। जब उसे पता चला तो उसे अपनी दुनियां एक बार फिर से उजड़ती हुई दिखी। आखिर दोनों ने मिलकर कानूनी रूप से एक होने की ठानी। जिसके बाद कोर्ट में शादी के लिए आवेदन किया।

कोर्ट के फैसले ने बढ़ाया हौसला

युवतियों ने बताया कि वह दोनों पति पत्नी की तरह साथ रहना चाहते थे। लेकिन समलैंगिक रिश्तों को समाज व कानून मान्यता नहीं देता था। हाल ही में समलैंगिक संबंधों पर आए न्यायालय के फैसले की आधी-अधूरी जानकारी ने उक्त दोनों युवतियों का हौसला बढ़ाया।

परिवार पर हुआ कुठाराघात

अपनी साथी दीपशिखा को लेकर अभिलाषा शुक्रवार की शाम घर पहुंची। पुत्री के फैसले की जानकारी होते ही परिवार सकते में आ गया। पास-पड़ोस के ताने सुनने के साथ ही अभिलाषा के परिवार को दोनों युवतियों के भविष्य की भी चिंता है।

मेहनत मजदूरी कर गुजारेंगीं जिंदगी

अभिलाषा ने बताया कि वह स्नातक तक पढ़ी है जबकि दीपशिखा भी स्नातक कर रही है। बताया कि वह दोनों बाहर जाकर कहीं प्राइवेट नौकरी कर अपना भरण-पोषण कर लेंगीं। जब तक कानून उनके संबंध को मान्यता नहीं देती तब तक उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Monsoon rains rain crisis