DA Image
27 जनवरी, 2021|7:39|IST

अगली स्टोरी

जिला पंचायत के धन का दुरुपयोग, अभिलेख छिपाए गए

default image

हमीरपुर। हिन्दुस्तान संवाद

हाईकोर्ट के आदेश के बाद जिला पंचायत अध्यक्ष का कार्यभार संभालने वाली डॉ.वंदना यादव के सामने काम करने में तमाम मुश्किलें पेश आ रही है। स्टाफ लगातार नदारत चल रहा है। स्टाफ की गैरहाजिरी को लेकर शासन को भी लगातार पत्राचार किया जा रहा है। जिला पंचायत अध्यक्ष का आरोप है कि जिला पंचायत में दो सालों में बड़े पैमाने पर घपले और घोटाले हुए हैं, जिसे छिपाने के लिए स्टाफ जान-बूझकर गैरहाजिर चल रहा है।

बता दें कि 19 दिसंबर को प्रशासन ने जिला पंचायत अध्यक्ष डॉ.वंदना यादव को हाईकोर्ट के आदेश के बाद जिला पंचायत अध्यक्ष पद का कार्यभार सौंपा था। पहले ही दिन से वंदना यादव के सामने कामकाज करने में दिक्कतें खड़ी करनी शुरू कर दी गई। वंदना के कार्यभार संभालने के बाद से ही जिला पंचायत का स्टाफ नदारत हो गया है। कोई भी अभियंता और लिपिक यहां उपस्थित नहीं हो रहा है। सोमवार को जिला पंचायत अध्यक्ष ने बताया कि जिला पंचायत में दो सालों में लाखों-करोड़ों का गबन और घोटाला हुआ है, जिसे छिपाया जा रहा है। इसी के चलते स्टाफ भी नदारत है। उन्होंने बताया कि नदारत स्टाफ को कई-कई बार स्पष्टीकरण की नोटिस जारी की गई है, लेकिन अभी तक किसी ने भी कोई जवाब नहीं दिया है। शासन को भी पत्राचार किया गया है। उन्होंने बताया कि सोमवार को जिला पंचायत के कई ठेकेदार व अन्य जनमानस के लोग अपनी समस्याओं के निराकरण के लिए आए तथा प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किए, लेकिन विभागीय कर्मचारियों के अनुपस्थित रहने व अभिलेख उपलब्ध न होने की वजह से जन समस्याओं का समाधान नहीं हो पा रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Misuse of funds of district panchayat records hidden