DA Image
2 जुलाई, 2020|7:23|IST

अगली स्टोरी

मिट्टी खोदाई का पैसा मांगने पर किसान को मिली धमकी

मिट्टी खोदाई का पैसा मांगने पर किसान को मिली धमकी

बुंदेलखण्डवासियों को सड़क मार्ग की हाईटेक व्यवस्था देकर देश के विभिन्न हिस्सों में जोड़ने के लिए केंद्र सरकार द्वारा बनाया जा रहा बुंदेलखण्ड एक्सप्रेस-वे लगातार विवादों से घिरता जा रहा है। एक किसान के खेत की मिट्टी एक्सप्रेस-वे में लगा दी गई। लेकिन उसका भुगतान नहीं किया गया। पैसा मांगने पर हाथ-पैर तोड़ने की धमकी दी गई। पीड़ित किसान ने बुधवार से तहसील परिसर में अनशन शुरू कर दिया।

रीवन गांव के किसान राममिलन तिवारी का कहना है कि वो लोग चार भाई हैं और चारों भाइयों के हिस्से में पांच-पांच बीघे जमीन है। खेतों के पास से बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे निकला है और इसका निर्माण जारी है। राममिलन ने बताया है कि एक्सप्रेस-वे के ठेकेदार ने उसके खेत की मिट्टी लेने के लिए 35 से 60 फीट लंबाई-चौड़ाई एवं 8 फीट गहराई की बात कहकर दस लाख रुपए देने की बात कही थी। इतना ही नहीं नौकरी देने का भी आश्वासन दिया था। बात होने पर ठेकेदार ने मिट्टी खोदाई करा ली और जब पैसा देने की बात आई तो मात्र पच्चीस हजार रुपए दिए तथा बाद में और पैसा देने का भरोसा देता रहा है।

कुछ दिन बीतने के बाद जब वह पैसा मांगने ठेकेदार के पास पहुंचा तो उसने पैसा देने से साफ मना कर दिया तथा दुबारा आने पर हाथ-पैर तोड़ने की धमकी देकर भगा दिया। किसान राममिलन ने बताया कि बीते साल बाइक एक्सीडेंट में उसका एक पैर खराब हो चुका है जिसके लिए डॉक्टरों ने पैसों का इंतजाम करने को कहा था ताकि पैर का ऑपरेशन हो सके और इसीलिए उसने अपने उपजाऊ खेत की मिट्टी बेंची थी, लेकिन एक्सप्रेस-वे के ठेकेदार और संबंधित अधिकारियों की मनमानी ने उसे बर्बाद कर दिया है। राममिलन का कहना है कि उसने इस मामले की शिकायत जिले के आला अधिकारियों सहित एक्सप्रेस-वे के अधिकारियों से भी की है लेकिन उसकी कहीं सुनवाई नहीं हुई है और थकहार कर वह बुधवार से अनशन पर बैठ गया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Farmer threatened by demanding money for digging