DA Image
6 दिसंबर, 2020|3:06|IST

अगली स्टोरी

युवक का सिर फोड़ा, दहशत फैलाने को तड़तड़ाई गोलियां

Firing

जंगल कौड़िया चौकी से एक किमी दूरी पर स्थित कोईरीपुरवा में शनिवार को मनबढ़ों ने दलित युवक का सिर फोड़ दिया। दहशत फैलाने के लिए दलित बस्ती में 6 राउण्ड गोलियां भी चलाई। ग्रामीणों के पथराव करने के बाद अपराधी फरार हो गए।
मौके पर पहुंची पुलिस ने दो खोखे बरामद करने के साथ दुर्गा मन्दिर में छिपे एक युवक को हिरासत में ले लिया है।  पुलिस ने अपराधियों की धड़पकड़ करने के लिए  उनके घरों पर छापेमारी की लेकिन वे नहीं मिले। घायल युवक को मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है।
जंगल कौड़िया के कोईरीपुरवा निवासी घायल संतोष के बड़े भाई बबलू ने बताया कि शनिवार को संतोष अपने ममेरे भाई के साथ शहर में दावत खाने गया था। लौटा तो दुर्गा मन्दिर के पास एक स्कार्पियों खड़ी थी। आरोप है कि स्कार्पियों में बैठकर भीटी तिवारी के डिस्कों, बिन्नुल, वैभव, भोलू, अभिषेक, अंशुमान आदि शराब पी रहे थे। वैभव गाड़ी से निकला और संतोष को  गालियां देने लगा। मना करने पर उसने धारदार हथियार से संतोष के सिर पर प्रहार कर दिया जिससे संतोष के सिर में गम्भीर चोटे आई।  उसके बाद अपराधियों ने दहशत फैलाने को दलित बस्ती में करीब छह राउण्ड फायरिंग कर दहशत फैला दिया। फायरिंग के बाद जुटे लोगों ने हमलावरों पर पथराव शुरू कर दिया। जिसके बाद वे भाग गए।

 गवाह बनने  के शक में मचाया बवाल
बबलू ने बताया कि भीटी तिवारी के प्रधान जयराम तिवारी के लड़के को इन अपराधियों ने मारा था। इनको शक था कि उस घटना में संतोष ने गवाई दी थी। इसी वजह से उन्होंने संतोष को निशाना बनाया था। 

पुजारी व बेटा भी फरार--
भीटी तिवारी के महेन्द्र तिवारी दुर्गा मन्दिर पर रामायण करा रहे थे। मन्दिर के पुजारी रामलाल व बेटे दुर्गेश कापानी के निकास को लेकर दलित बस्ती के लोगों से विवाद है। पुजारी व उसके बेटे ने अपराधियों को चढ़कर बवाल कराया। पुजारी व उसका बेटा फरार है।  पुजारी के बेटे पर भी फायरिंग का आरोप है।