DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड के लिए लेक्चर देंगे शहर के यतीश चंद्र शुक्ल

Lucknow, UP Board, Home Science

शहर के एक कोचिंग में पढ़ाने वाले यतीश चंद्र शुक्ल अपनी टीम के साथ गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड के लिए मैराथन लेक्चर देंगे। 4 जून को सुबह 5 बजे से सिविल लाइन स्थित कोचिंग संस्था में वह अपना प्रयास शुरू करेंगे। वर्ल्ड रिकार्ड के प्रयास करने को उन्हें गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड की ओर से उन्हें मंजूरी मिल गई है। 10 जून को एक बजे पता चलेगा कि वह प्रयास में कहां तक सफल हुए। 
रिकार्ड के लिए प्रयास को मिली मंजूरी
4 जून से एक कोचिंग संस्था में चलेगी मैराथन लेक्चर

यतीश शुकल ने बताया कि वह एक साल से अपनी टीम के 25 शिक्षकों और 100 विद्यार्थियों के साथ इसके लिए प्रयास कर रहे हैं। कार्यक्रम का 50 अन्वेक्षक 3-3 घंटे के अंतराल पर निरीक्षण करेंगे। नियमानुसार प्रति घंटे के बाद पांच मिनट का विश्राम किया जा सकता है। हर चार घंटे पर विद्यार्थियों को बदलना जरूरी होगा। हर पल की वीडियोग्राफी होगी। उनके लेक्चर का विषय भारत का इतिहास, भूगोल, राजव्यवस्था, अर्थ व्यवस्था व समसामयिक मुद्दे हैं। अभी तक यह रिकार्ड भारत के ही प्रोफेसर अरविन्द मिश्र के नाम से दर्ज है। उन्होंने मार्च- 2014 में ग्राफिक एरा विवि, देहरादून में साइंटिफिक कंप्यूटिंग विषय पर 139 घंटे 42 मिनट 56 सेकेंड का मैराथन लेक्चर दिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Yatish Chandra Shukla will give lecture to Guinness Book of World Records